प्यारी देवी को मिला स्लिंग सर्जरी का लाभ, चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना ने दिया मां बनने का एक और मौका।

भीलवाड़ा ब्यूरो रिपोर्ट।
जरूरतमंदों को राहत पहुंचाना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। राज्य सरकार द्वारा संचालित मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत भीलवाड़ा जिले की प्यारी देवी भील निवासी आमली, तहसील बनेड़ा को 60 हजार रुपए की लागत की निःशुल्क स्लिंग सर्जरी का लाभ बिना किसी खर्चे के मिला। यह सर्जरी भीलवाड़ा के रामस्नेही हॉस्पिटल में की गई। सर्जरी के बाद अब प्यारी देवी का मां बनने का सपना भी साकार हो सकेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुस्ताक खान के अनुसार प्यारी देवी भील पिछले 2 वर्षों से बच्चेदानी की समस्या से ग्रसित थी। साथ ही पेट दर्द और उल्टी की समस्या हमेशा बनी रहती थी। जीवन एकदम नीरस हो चुका था। इस कारण वह संतान सुख प्राप्त नहीं कर पा रही थी। चिकित्सकों को दिखाने पर उन्हें बताया गया कि बच्चेदानी निकालनी पड़ेगी जिसका खर्च लगभग 60 हजार रुपए आयेगा। पैसों के अभाव में यह प्यारी देवी के लिए संभव नहीं था। क्योंकि प्यारी देवी घर-घर काम कर अपना और अपने परिवार का पालन पोषण कर रही थी। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी मिलने पर रामस्नेही हास्पिटल में स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरभि पिपलानी को दिखाया। चिकित्सक ने जांच के आधार पर आपरेशन के लिए कहा और बताया कि बच्चेदानी निकाले बिना ही यह आपरेशन चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत निःशुल्क हो जाएगा। सर्जरी के बाद वह संतान का सुख भी प्राप्त कर सकती है। यह बात सुनकर प्यारी देवी खुशी से झूम उठी। सर्जरी से होने वाली पीड़ा को भूल गई और चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत प्यारी देवी का बिना किसी खर्चे के ऑपरेशन हो गया। आर्थिक और मानसिक पीड़ा से निजात पाकर प्यारी देवी ने राज्य सरकार की इस योजना का और डॉ. सुरभि पिपलानी का धन्यवाद ज्ञापित किया और बताया कि योजना के तहत मेरी कम उम्र में बच्चेदानी निकाले बिना मेरा इलाज संभव हो सका। योजना में निःशुल्क इलाज की वजह से मुझे संतान सुख प्राप्त करने का एक और मौका मिला है। चिरंजीवी योजना को प्यारी देवी ने राज्य सरकार की अच्छी सौगात बताया। प्यारी देवी का कहना है कि यह योजना गरीब असहाय और जरूरतमंद व्यक्तियों के लिए जीने का सहारा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack