सरकारी नौकरियों में सिर्फ राजस्थान के युवा को मिलेगा मौका, सीएम गहलोत जल्द ही करेंगे घोषणा।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार पूर्ण प्रतिबद्धता के साथ युवा विचारों और उनकी भावनाओं के आधार पर ही उज्ज्वल भविष्य के लिए फैसले ले रही है। वर्तमान सरकार द्वारा अभी तक 1.25 लाख नौकरियां दे दी गई हैं। एक लाख प्रक्रियाधीन हैं, और एक लाख नौकरियां देने की घोषणा की है। भविष्य में प्रदेश की नौकरियों में राजस्थान के युवाओं को ही लाभ मिले, इसके लिए भी उच्च स्तरीय परीक्षण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि अगला राजस्थान बजट युवा केंद्रित रहे। इसके लिए युवा वर्ग देश के विभिन्न राज्यों और विदेशों में संचालित योजनाओं की स्टडी कर सुझाव दे। गहलोत मंगलवार को यूथ हॉस्टल में ‘राजीव गांधी यूथ एक्सीलेंस सेंटर‘ के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सेंटर में युवाओं को उच्च कोटि की सुविधाएं मिलेंगी। राज्य सरकार युवा हितों में कोई कमी नहीं रखेगी। उन्होंने कहा कि भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने भी युवाओं के विचारों के लिए क्रांतिकारी फैसला लेकर 18 वर्ष की आयु में मतदान करने का अधिकार दिया था। उसी तरह राज्य सरकार भी युवाओं के लिए अहम फैसले ले रही है। 
विदेश में पढ़ाई का खर्च उठाएगी राज्य सरकार।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ‘राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस‘ के जरिए खर्च वहन कर प्रदेश के युवाओं को विदेशों के विश्वविद्यालयों, संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्रदान करा रही है। मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना में 15 हजार युवाओं को निःशुल्क कोचिंग सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। प्रदेश के आरक्षित वर्ग के कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए अंबेडकर डीबीटी वाउचर स्कीम शुरू की गई है। 
3 साल में खुले 211 महाविद्यालय।
वर्तमान सरकार ने गत 3 वर्षों में 211 महाविद्यालय (90 महिला) खोलकर प्रदेश में उच्च शिक्षा को और मजबूत किया है, जबकि इन वर्षों से पूर्व सिर्फ 240 महाविद्यालय ही खुले थे। वहीं, 500 से अधिक संख्या वाले गर्ल्स स्कूलों को कॉलेज में क्रमोन्नत करने का अहम फैसला लिया गया है। यही वजह है कि 20 साल पहले लड़कियां कम पढ़ती थीं, आज इनकी संख्या लड़कों से ज्यादा है। युवाओं को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने के लिए राजस्थान रोडवेज बसों में निःशुल्क यात्रा सुविधा दी जा रही है। साथ ही प्रदेश के करीब 200 खिलाड़ियों को आउट ऑफ टर्न नियुक्तियां देकर उन्हें प्रोत्साहित किया है।
   ग्रामीण ओलंपिक खेलों से बनेगा रिकॉर्ड।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण ओलंपिक खेलों के लिए 26 लाख खिलाड़ी रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। ओलंपिक के आयोजन से हर गांव में खेलों के अनुकूल माहौल बनेगा। मैदान में हर उम्र के खिलाड़ी नजर आएंगे। यह आयोजन एक नया रिकॉर्ड बनाएगा। 

मुख्यमंत्री ने किया युवाओं से आह्वान।
मुख्यमंत्री ने युवाओं से आह्वान किया कि वे राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को पढ़ें। उनके बारे में अपने आसपास के लोगों को जानकारी देकर लाभान्वित कराने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है, लेकिन शांतिपूर्वक तरीके से। हिंसा और आगजनी जैसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए।

एक्सीलेंस सेंटर में होगा खास।
युवाओं के लिए लगभग 4.50 करोड़ की लागत से एक्सीलेंस सेंटर बनेगा। इसके बेसमेंट में प्रशिक्षण सभागार और अन्य सुविधाएं होंगी। भूतल में स्वागत कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष, एक कॉन्फ्रेंस हॉल, कार्यालय व किचन मय डाइनिंग हॉल तथा प्रथम तल पर डोरमेट्री सहित कमरों का निर्माण होगा। यहां पर प्रदेश के युवाओं को ठहरने की सुविधा उपलब्ध होगी। साथ ही, युवाओं से संबंधित सांस्कृतिक कार्यक्रम, कार्यशालाएं आयोजित होंगी। दिल्ली स्थित उदयपुर हाउस में 300 करोड़ रूपये लागत से 500 युवाओं के लिए 250 कमरों का नेहरू यूथ ट्रांजिट हॉस्टल एंड फैसिलिटेशन सेंटर बनाया जा रहा है। यहां राजस्थान के युवाओं को दिल्ली में पढ़ाई और अन्य कार्यों के लिए जाने पर ठहरने की सुविधा मिलेगी।

प्रदेश के युवाओं को मिली सौगातें।
समारोह में युवा मामले एवं खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना ने कहा कि मुख्यमंत्री ने राज्य बजट के द्वार युवाओं के लिए खोल दिए हैं। युवाओं और खिलाड़ियों को कई सौगातें दी हैं। देश में सबसे ज्यादा मेडिकल कॉलेज और राजकीय कॉलेज खोलने से राजस्थान एजुकेशन हब बनकर उभर रहा है। उन्होंने कहा कि पदक विजेता खिलाड़ियों को प्राथमिकता से जमीन आवंटन और प्रोत्साहन राशि में कई गुणा बढ़ोतरी कर उनका हौसला बढ़ाने का कार्य किया गया है। समारोह में राजस्थान यूथ बोर्ड अध्यक्ष सीताराम लांबा, उपाध्यक्ष सुशील पारीक ने भी संबोधित किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack