ठोस एवं तरल कचरा प्रबन्धन के मॉडल प्लान को अपनाकर गांवों को ओडीएफ प्लस बनाएं।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पंचायती राज विभाग के शासन सचिव नवीन जैन ने विभिन्न जिला परिषदों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों, बीडीओ एवं स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के द्वितीय चरण से जुडे़ अधिकारियों को उनके जिलों के गांवों को ओडीएफ प्लस श्रेणी में लाने के लिए समयबद्ध प्रयास करने के निर्देश दिए हैं। जैन ने 2 हजार की आबादी वाले गांव में योजना के अन्तर्गत ठोस एवं तरल कचरा प्रबन्धन के मॉडल प्लान की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्हें इस योजना को उनके क्षेत्र में सफलतापूर्वक पूरा करने के निर्देश प्रदान किए। जैन स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) द्वितीय चरण के अन्तर्गत इंदिरा गांधी पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास संस्थान में ओडीफ प्लस पर हुई एक दिवसीय आमुखीकरण कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे। कार्यशाला में 9 जिलों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, 37 ब्लॉक विकास अधिकारी, जिला समन्वयक, प्रभारी अधिकारी एवं एसएलडब्ल्यूएम विशेषज्ञ द्वारा भाग लिया गया। आमुखीकरण कार्यशाला में यूनिसेफ, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, भारत सरकार से आए प्रतिनिधियों द्वारा ओडीएफ प्लस़ के विभिन्न घटकों पर विचार साझा किये गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack