भाजपा सरकार गिराने में मास्टर मांइड, अगर राजस्थान मे कोरोना नहीं होता तो कांग्रेस की सरकार भी गिर जाती-हनुमान बेनीवाल।

बाड़मेर ब्यूरो रिपोर्ट।
सेना में अग्निपथ भर्ती के फैसले के विरोध में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की ओर से आगामी 27 जून को जोधपुर में युवा हुंकार महारैली का आयोजन किया जाएगा। इसी को लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल बाड़मेर पहुंचे। बेनीवाल ने यहां प्रेस वार्ता में कहा कि जिस तरह पंजाब ने किसान आंदोलन का नेतृत्व किया था, वैसे ही अ​ग्निपथ ​के विरोध का अग्रज राजस्थान बने।बेनीवाल ने कहा कि अग्निपथ के विरोध में देश में बड़ा आंदोलन होना चाहिए और इसका नेतृत्व राजस्थान करे, जिस तरह से किसान आंदोलन का पंजाब ने किया था। इसको लेकर आरएलपी 27 जून को जोधपुर में बड़ी रैली का आयोजन करेगा। उन्होंने कहा कि युवा इसमें भाग लें और इसे ऐतिहासिक बनाएं। पीएम के घमंड को तोड़ने के साथ ही उन्होंने युवाओं से अहिंसात्मक तरीके से विरोध करने की अपील की। बेनीवाल ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि किसान आंदोलन में जब इनकी पार नहीं पड़ी और बैकफुट पर चले गए और अब किसान के बेटों को तंग करने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि जोधपुर में होने वाली रैली के बाद आगामी रणनीति तय करेंगे। बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस आरएलपी को देखकर अग्निपथ भर्ती का विरोध कर रही है। दो दिन बाद कांग्रेस को किसी समझदार व्यक्ति ने समझाया कि सारा आंदोलन तो राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी कर रही है। तब जाकर कांग्रेस के लोगों ने भागकर हाथों में झंडा लिया कि टीओडी वापस लो। उन्होंने कांग्रेस के नेताओं पर चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस के आधे नेताओं को पता भी नहीं है तो कई टीओडी और कई डीओटी बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगातार अपराध बढ़ता जा रहा है। भाजपा ने चुप्पी साध ली है और हाथ मिला लिया है। बजरी माफिया, पर्यटन माफिया यहां तक की कई मंत्री ओर विधायक माफिया बन गए हैं। यह हालात राजस्थान के अंदर हैं। सिर्फ आरएलपी पार्टी प्रदेश और देश के जवान किसान की लड़ाई अकेली लड़ रही है। बेनीवाल ने कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी 2023 में प्रदेश में 200 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और साथ ही कुछ सीटों पर समझौते कर भी विकल्प खुले हैं। आम आदमी पार्टी को लेकर बेनीवाल ने बयान देते हुए कहा कि राजस्थान में आम आदमी पार्टी का कोई भविष्य नहीं है। उन्होंने कहा कि हम चाहेंगे कि कांग्रेस और भाजपा मुक्त राजस्थान बने। महाराष्ट्र के राजनीतिक हालातों पर बेनीवाल ने कहा कि सरकार गिराने में भारतीय जनता पार्टी मास्टर है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश में 22 से 23 सरकारों को गिराया और राजस्थान में भी कांग्रेस की सरकार को गिराने का प्रयास किया था। उस वक्त सरकार के खिलाफ आरएलपी के 3 वोट तैयार थे। सरकार गिराने का प्रयास किया था। उस समय सबको कोरोना हो गया था। अगर कोरोना नहीं होता, तो सरकार गिर जाती। वही दिव्या मदेरणा को लेकर की गई टिप्पणी के बाद से हनुमान बेनीवाल को लेकर कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इसको लेकर बेनीवाल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि विरोध किस बात का मैनें तो ये कहा था कि दिव्या मदेरणा को शादी कर लेनी चाहिए। उम्र निकल जाएगी शादी की। उन्होंने कहा कि राजनीति में बवाल होते रहते हैं। हमारे पर भी हमले हुए हैं। हम तो जान हथेली में लेकर राजस्थान और देश के अंदर चले हैं। उन्होंने कहा कि मैंने दिव्या मदेरणा की मदद की थी और उन्हें विधायक बनाया था। मेरी मदद से विधायक बनी थीं और मैंने जब मुंह फेर लिया तो कांग्रेस के तीनों प्रधान हार गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack