लड़कियों के न्यूड वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर किये वायरल।

नागौर ब्यूरो रिपोर्ट।
नागौर जिले में एक कम्प्यूटर सेंटर में लड़कियों के न्यूड वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करने का प्रकरण प्रकाश में आया है। वीडियो में कम्प्यूटर संचालक लड़कियों के साथ अश्लील हरकतें करता दिख रहा है। यहां कम्प्यूटर सेंटर का यह वीडियो वायरल होने के बाद सेंटर संचालक ने दो युवकों के खिलाफ रुपये न देने पर कम्प्यूटर सेंटर को बदनाम करने की साजिश रचने का मामला दर्ज कराया है। पुलिस के अनुसार कम्प्यूटर सीखने आने वाली लड़कियों के न्यूड वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। सोशल मीडिया पर करीब 1 दर्जन से अधिक ऐसे वीडियो वायरल होने से शहर के लोगों में भी शिक्षण संस्थानों को लेकर भय फैल गया है। वीडियो में कम्प्यूटर सेंटर संचालक लड़कियों से अश्लील हरकतें करता दिखाई दे रहा है। जब कम्प्यूटर सेंटर के स्टूडेंट्स के न्यूड वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर होने लगे तो एक-एक कर 7 से 8 स्टूडेंट के एक दर्जन वीडियो अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दिखाई देने लगे। पीड़ित ने रिपोर्ट में बताया है कि वह जिले में एक कम्प्यूटर सेंटर चलाता है। 2019 में तेजपाल आचार्य उसके सेंटर में ऑपरेटर का काम करता था। तेजपाल की ओर से अलग-अलग लड़कियों की फोटो साइट पर डालने की शिकायत मिलने के बाद उसे नौकरी से निकाल दिया गया था। इसके बाद राजवीर मेघवाल को यहां काम दिया गया था लेकिन वह भी छात्राओ के साथ गलत व्यवहार करता था। पीड़ित संचालक ने रिपोर्ट में बताया कि इन दोनों ने मुझे बदनाम करने के लिए षड्यन्त्र रचा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि वीडियो वायरल करने की धमकियां मुझे रोज मिल रहीं थीं। मुझे व मेरे भाइयों को बदनाम करने की धमकियां देते हुए मुझसे 5 लाख रुपये मांगे गए थे। मैंने जब इनको पैसे देने से मना कर दिया तो इन्होंने मेरा एडिट किया हुआ फेक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो में कम्प्यूटर संचालक इन स्टूडेंट के साथ अश्लील हरकतें करता दिखाई दे रहा है। अश्लील फोटो, वीडियो में नशे के सामान से भरी कई थैलियां भी दिखाई दे रहीं हैं। पूरे मामले के बाद देर रात कम्प्यूटर सेंटर संचालक कोतवाली थाने पहुंचा और दो युवकों के खिलाफ उसे व उसके सेंटर को बदनाम करने का मामला दर्ज करवाया है। इसको लेकर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। कम्प्यूटर कोचिंग संचालक ने वीडियो एडिट कर वायरल करने का आरोप लगाया है। पूरे मामले को लेकर नागौर वृत्ताधिकारी विनोद कुमार सीपा मामले की जांच कर रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack