बिजली विभाग के कार्यक्रम में एक साथ नजर आए मंत्री रमेश मीणा और सांसद डॉ मनोज राजोरिया, देर तक चर्चा में रहे मशगूल।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
75वें आजादी अमृत महोत्सव के अन्तर्गत जिला मुख्यालय के एक निजी रिसोर्ट में उज्जवल भारत उज्ज्वल भविष्य पॉवर 2047 कार्यक्रम का आयोजन आयोजित हुआ। जिसमें बिजली विभाग के अधिकारियों ने जिले के बिजली विभाग का लेखा-जोखा पेश किया। कार्यक्रम में खास बात यह रही कि पंचायती राज मंत्री रमेश चंद्र मीणा एवं करौली धौलपुर सांसद डॉ मनोज राजोरिया एक साथ सोफे पर बैठे नजर आए और चर्चा करते नजर आए। कार्यक्रम के तहत उर्जा एवं न्यू एण्ड रिन्यूवल इनर्जी के अन्तर्गत भारत सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा किए गए कार्यों एवं उपलब्धियों का प्रदर्शन किया गया। स्कूली छात्र-छात्राओं ने अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से बिजली की बचत एवं छीजत रोकने का संदेश दिया। बिजली निगम के एईएन अरविंद गुप्ता ने बताया कि मुख्य अतिथि पंचायत राज मंत्री रमेश चंद मीना, करौली धौलपुर सांसद डॉ मनोज राजोरिया रहे। आयोजन में बिजली से किस प्रकार मानव समाज मे क्रांति रहे सहित नवीन भारत में नवकरणीय बिजली संबंधित क्रांति के बारे में बताया गया। स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा नाट्य और राजस्थानी गीतों पर नृत्य की प्रस्तुति भी दी गई। भारत सरकार एवं राजस्थान सरकार की ऊर्जा के क्षेत्र में की गई प्रगति को नुक्कड़ नाटक एवं फिल्मों के माध्यम से अवगत कराया गया। इस दौरान पंचायती राज्य मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने बताया कि जब देश आजाद हुआ था तो राज्य में मुश्किल से 13 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता था राजस्थान में लगभग 24 घंटे बिजली आमजन के लिए उपलब्ध रहती है वही जिले की बात करें तो जैसा अधिकारियों ने बताया जिले में सभी जगह बिजली उपलब्ध है एक दो जगह जरूर डाल क्षेत्र ऐसे हैं जहां बिजली उपलब्ध नहीं है वहां पर शीघ्र ही बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी सांसद मनोज राजोरिया ने बताया कि उज्जवल भविष्य और उज्जवल भारत का मतलब प्रत्येक घर में बिजली कैसे पहुंचे और आज हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि करौली जिले के प्रत्येक घर में बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। इसी को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार आपस में समन्वय बनाकर कार्य कर रहे हैं और लोगों तक बिजली की सुविधा को उपलब्ध करवा रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack