मुख्यमंत्री कन्यादान योजना बेटियों के लिए बनी वरदान।

टोंक ब्यूरो रिपोर्ट।
 राज्य सरकार की मुख्यमंत्री कन्यादान योजना गरीब, बीपीएल, असहाय वर्ग के परिवारों की बेटियों की शादी में आर्थिक सहयोग प्रदान कर रही है। जिससे परिवारों पर आर्थिक भार नहीं आने से कर्ज से भी मुक्ति मिली है।टोंक जिले की तहसील देवली की ग्राम पंचायत आंवा निवासी रामदेव चौहान बताते है कि वे बीपीएल परिवार से है। उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। इसलिए अपनी दो बेटियों पूजा व रिंकू की शादी की चिंता से वह परेशान रहते थे। बेटियों की शादी करने के लिए रामदेव ने साहूकार से कर्ज लेकर अपनी दोनों बेटियों की शादी की।।राज्य सरकार द्वारा चलाए गए प्रशासन गांव के संग अभियान में रामदेव को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की जानकारी प्राप्त हुई। उन्होंने विभाग में जाकर इस योजना की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। शादी के 6 महिने के अंदर ई-मित्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करने के पश्चात विभाग द्वारा सम्पूर्ण दस्तावेजो की पूर्ति कर रामदेव को एक लाख 2 हजार रूपए की आर्थिक सहायता सीधे खाते में जमा करा दी गई। रामदेव कहते है कि गरीब परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना वरदान है।इसी तरह इस योजना से लाभान्वित टोंक शहर के ताल कटोरा निवासी लाडले मिया भी बीपीएल परिवार से आते है। लाडले मिया ठेले पर माल ढ़ोने का कार्य कर अपनी आजीविका चलाते है। परिवार में 8 सदस्य है। निश्चित आय नहीं होने के कारण परिवार का गुजारा बड़ी मुश्किल से हो पाता था। बेटी शमा के शादी लायक हो जाने के कारण उन्हें उसकी शादी की चिंता हो रही थी। किसी परिचित के द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की जानकारी होने से उन्हें अपनी बेटी की शादी में राज्य सरकार से 41 हजार रूपए की आर्थिक सहायता मिली। लाड़ले मिया ने अपनी बेटी की शादी में मिली सहायता के लिए राज्य सरकार का आभार व्यक्त किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack