बच्चों को रास आया गहलोत सरकार के नो बैग डे का फैसला।

सीकर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय उजीन सिंह का नाडा बेरी में शनिवार को विद्यार्थियों पर बस्ते का बोझ कम करने और खेल खेल में शिक्षा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई योजना नो बैग डे पर विद्यालय में अनेक कार्यक्रम किए गए। सत्र 2022- 23 में  विद्यालय खुलने के बाद इस शनिवार को विद्यालय में विद्यार्थियों को बिना बस्ते के बुलाया गया। विद्यार्थियों पर पढ़ाई के बोझ को कम करने के लिए राज्य सरकार ने पिछले वर्ष इस तरह के आदेश जारी किए । विद्यालय में खेल के माध्यम से शिक्षा देने के लिए अनेक तरह के खेलों का आयोजन हुआ। इससे पहले पूरे गांव में सभी विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों ने मिलकर नामांकन बढ़ाने के लिए रैली का आयोजन किया ।कार्यक्रम की जानकारी देते हुए प्रधानाध्यापक राजकमल जाखड़ ने बताया कि सरकारी विद्यालयों के प्रति अभिभावकों को जोड़ने के लिए विद्यालय में मिलने वाली सरकारी  सुविधाओं के प्रचार प्रसार के लिए नामांकन रैली बहुत उपयोगी है। इसके साथ ही साथ नो बैग डे प्रभारी कल्पना देवी ने बताया कि विद्यार्थियों में शनिवार का इंतजार रहता है, कि उस दिन हमें स्वतंत्रता के साथ खेलने को अवसर मिलेगा। हालांकि इस बार जुलाई माह में उमस ज्यादा होने के कारण विद्यार्थियों को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ,लेकिन कक्षा कक्ष में निबंध प्रतियोगिता डांस प्रतियोगिता के आयोजन विद्यार्थियों को लुभा रहे हैं। इस अवसर पर रेखा सैनी, सुनीता देवी ,अजय, संजय अनिल कुमार ,अमित कुमार सहित अनेक ग्रामवासी उपस्थित रहे। इस अवसर पर बाल सभा का आयोजन बेरी गांव के सार्वजनिक माताजी के मंदिर में की गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack