श्रद्धा के साथ मनाया गुरु पूर्णिमा का त्योहार।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
करौली शहर सहित जिलेभर में गुरू पूर्णिमा का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान शिष्यो ने अपने गुरू की चरण वंदना कर आर्शावाद लिया और सद मार्ग पर चलने का वचन दिया। जिले में गौमती आश्रम,चैनपुर आश्रम, मौनी बाबा अतेवा आश्रम, सहित घरो पर गुरू पूजा व वंदना का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसी प्रकार शिष्यो ने अपने गुरू का पूजन कर भव सागर पारने व सद मार्ग पर चले का आशीष प्राप्त किया। वही शिष्यो ने गुरू को विश्व कल्याण व प्राणी मात्र के हित में काम करने का वचन दिया। जिले भर में आयोजित गुरू पूर्णिमा कार्यक्रमो में गुरू के जयकारे गूंजतें रहें। इस दौरान लोगो ने पूजा अर्चना के बाद प्रसादी ग्रहण की। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर उत्तर भारत के प्रसिद्ध कैला देवी आस्था धाम में एव मदनमोहन मंदिर में भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी और कतार बंद होकर दर्शन किए और खुशहाली की दुआ मांगी। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आध्यात्मिक गुरू पंडित हरिमोहन शर्मा ने गुरु पूर्णिमा के महत्व को लेकर बताया की गुरु पूर्णिमा का पर्व सनातन धर्म की रक्षा एवं समाज में व्याप्त बुराइयों को समाप्त कर मनुष्य को अच्छे जीवन जीने की राह दिखाता है। अध्यात्मिक गुरू हरिमोहन शर्मा ने गुरु पूर्णिमा के अवसर पर पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए पौधारोपण एवं समाज में व्याप्त कुरीतियों को मिटाकर सनातन धर्म की रक्षा का संदेश दिया जाता है। उन्होंने बताया कि गुरू किसी भी व्यक्ति के अंधकारमय जीवन में ज्ञान की ज्योति प्रदान करता है। इससे मनुष्य उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर होता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack