यूपीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार ने सीएम गहलोत समेत विधायकों से मांगा समर्थन

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राष्ट्रपति चुनाव में यूपीए के उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा राजधानी जयपुर पहुंचे । इसको लेकर सीएम अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक की और बैठक में कांग्रेस, निर्दलीय और समर्थित विधायक शामिल रहे। वहीं सिन्हा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। और राष्ट्रपति पद को लेकर अपनी दावेदारी जताई। कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने कहा कि विपक्ष की पार्टियों की तरफ से एकजुट होकर इनको आगामी राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में उम्मीदवार बनाया है। 
मुझे खुशी है कि एक बहुत ही अनुभवी राजनेता को अवसर मिला है कैंडिडेट बनने का देश के राष्ट्रपति के रूप में। यशवंत सिन्हा को मैं तबसे जानता हूं जब मैं 22 साल पहले पहली बार मुख्यमंत्री था, उस वक्त ये केन्द्र मे वित्त मंत्री थे। इनके कार्य करने की शैली, इनका व्यवहार, ये वाजपेयी गवर्नमेंट में वित्त मंत्री थे, उसके बावजूद भी जो सहयोग, जो समर्थन हमें मिलता रहा राजस्थान को, उसको मैं कभी भूल नहीं सकता। हमने जो एक अभिनव प्रयोग किया था उस वक्त में क्योंकि बहुत कम पर्सेंटेज शिक्षा थी राजस्थान के अंदर, 38 पर्सेंट सिर्फ, तब हम लोगों ने एक प्रयोग किया था कि राजीव गांधी के नाम से, 50 साल हो गए थे उस वक्त राजस्थान को बने हुए, राजीव गांधी स्वर्ण जयंती पाठशाला और ये प्रयोग किया था कि गांवों में, ढाणी के अंदर कोई एक पढ़ा-लिखा इंसान है वो टीचर बन जाए और वो उनको पढ़ाए बच्चों को, तो करीब 23 हजार स्कूलें हमने खोली थीं उस वक्त में, गांव-गांव में, ढाणियों तक में खोल दी थीं, उसी से जंप हुआ बाद में। उस वक्त जब मैं इनके पास गया तब भी मुझे याद है कि इन्होंने हमे पूरा सपोर्ट किया, समर्थन दिया, कभी मुझे वित्तीय संकट होने के बावजूद भी, उस वक्त हम लोग कई बार ओवर ड्राफ्ट हो जाते थे, उस वक्त में पंजाब, असम, कई राज्य सरकारें थीं, संकट का सामना करना पड़ता था उनको, अपनी सरकारी बिल्डिंग्स मोर्गेज करनी पड़ती थीं पंजाब जैसे राज्यों को, असम की स्थिति बहुत ही विकट थी। आपको बता दे, कि राजस्थान में अगर सब कुछ ठीक रहा तो यशवंत सिन्हा को 126 विधायकों और छह राज्यसभा सांसदों के वोट मिलेंगे। सिन्हा को राजस्थान के 126 विधायकों के 16 हजार 254 वोट और छह सांसदों के 4200 वोट मिलेंगे। राजस्थान में एक विधायक के वोट की वैल्यू 129 और एक सांसद के वोट की वैल्यू 700 है। ऐसे में राजस्थान से सिन्हा को कुल 20 हजार 454 वोट मिलेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack