दो दिवसीय डिजिफेस्ट-2022 में युवाओं का उमड़ा सैलाब, युवा स्टार्टअप्स, निवेशक, कॉरपोरेटस और शिक्षाविद आये एक मंच पर।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
तकनीक एवं उद्यमिता के क्षेत्र में युवाओं को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा 19 और 20 अगस्त को राजस्थान डिजिफेस्ट-2022 का आयोजन किया गया। इस दो दिवसीय डिजिफेस्ट-2022 में युवाओं का सैलाब उमड़ पड़ा। युवाओं अपने स्टार्टअप के साथ फेस्ट में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस बहुआयामी आयोजन में युवा स्टार्टअप्स, निवेशकों, कॉरपोरेटस, भागीदारी और शिक्षाविदों एक मंच पर आये। मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम को दोनों दिन संबोधित किया।
आर-कैट का उद्घाटन।
राजस्थान सरकार राज्य के स्नातक और स्नातकोत्तर विद्यार्थियों के लिए रोजगार के अवसरों को समृद्ध करने के लिए दृढ़ संकल्पित है जिसके परिणामस्वरूप राजीव गांधी एडवांस टेक्नोलॉजी सेंटर (आर-कैट) का मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन किया गया।राज्य में सरकार एवं उद्योग जगत की मांग के अनुसार गुणवत्तापूर्ण तकनीकी जनशक्ति उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए विश्वस्तरीय सर्टिफिकेशन प्रोग्राम को अपनाते हुए आईटी क्षेत्र के अग्रणी संस्थाओं के साथ सहभागिता के आधार पर प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम संचालित करने के लिए आर-कैट को वर्ष 2022 में राजस्थान सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1958 के अन्तर्गत सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग, राजस्थान सरकार के संरक्षण में स्थापित किया गया है। अब इस संस्थान में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग (एआई-एमएल) ब्लॉकचेन, ऑगमेंटेड रियलिटी/वर्चुअल रियलिटी (एआर/पीआर) बिग डेटा एनालिटिक्स, रोबोटिक्स और टम कंप्यूटिंग आदि पर भागीदार संस्थानों द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा और सफल अभ्यर्थियों को विश्व स्तरीय सर्टिफिकेट भी दिये जायेंगे। आर-कैट युवाओं और कामकाजी पेशेवरों के विकास, तकनीकी और सॉफ्ट स्किल्स के लिए फिनिशिंग स्कूल के रूप में कार्य करेगा ताकि उन्हें उद्योग आधारित मांग के अनुरूप तैयार किया जा सके एवं उद्योग अपडेट सहकार्य पहले से स्थापित प्रयोगशालाओं के उपयोग आदि के लिए स्टार्ट-अप का समर्थन किया जा सके। यहा ओरेकल वीएमवेयर एसएएस रेडहैट सिस्कों एवं कैडओटाफिना जैसे वैश्विक तकनीकी दिग्गजों के सहयोग से बीई, बीटेक, बीसीए, एमसीए एमबीए और एमएससी (आईटी) जैसे पेशेवर स्नातकों के लिए एक सप्ताह से छह महीने तक की अवधि के उन्नत और उमरती आईटी आधारित प्रमुख तकनीकी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग (एआई-एमएल) ब्लॉकचैन, ऑगमेंटेड रियलिटी और वर्चुअल रियलिटी (एजार / वीआर), बिग डेटा एनालिटिक्स रोबोटिक्स और क्वांटम कम्प्यूटिंग आदि पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें।
स्टार्टअप एक्सपो।
दो दिवसीय डिजीफेस्ट में राज्य भर से विभिन्न विश्वविद्यालयों और एटीएल का प्रतिनिधित्व करने वाले मान्यता प्राप्त 45 आईस्टार्ट स्टार्टअप ने अपने स्टार्टअप उत्पादों एवं सेवाओं का प्रदर्शन किया। इस सभी स्टार्टअप को उत्पादों एवं सेवाओं की सीधी खरीद के लिए सरकारी अधिकारियों के सामने उनकी बातचीत की सुविधा मिली।ऽ स्टार्टअप बाजार में उत्पाद आधारित शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 30 स्टार्टअप को अपने उत्पादों के प्रदर्शन एवं बिक्री का अवसर दिया जा रहा है। डिजीफेस्ट में विभिन्न उद्योग, निकायों और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के समर्थकों को चर्चा आयोजित एवं भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया जिसमें स्टार्टअप और युवा पारिस्थितिकी तंत्र के विभिन्न हितधारक शामिल हुए। इन सम्मेलनों में देश भर से आमंत्रित वक्ताओं ने न केवल सरकार को प्रत्यक्ष प्रतिक्रिया दी बल्कि स्टार्टअप्स और पारिस्थितिकी तंत्र के अन्य प्रमुख हितधारकों के लिए संबंध भी बनाए। डिजीफेस्ट में राजस्थान के 50 से अधिक विद्यालयों के 3000 से अधिक छात्र-छात्राओं को बी-क्विज, एड-एमएडी प्रतियोगिता में भाग लिया। इस आयोजन का उद्देश्य राजस्थान भर के युवा छात्र छात्राओं को पारिस्थितिकी तंत्र से कराना है। इस अवसर पर संभाग एवं जिला स्तरीय 51 छात्र-छात्राओं को स्कूल स्टार्टअप प्रोग्राम के अन्तर्गत स्कूल इनोवेशन चैलेंज और 23 विद्यार्थियों को रूरल आईस्टार्ट प्रोग्राम के अन्तर्गत पुरस्कृत किया गया। राजस्थान स्टार्टअप पॉलिसी, 2015 के तहत मूल्यांकन समिति और राज्य स्तरीय कार्यान्वयन समिति ने 67 स्टार्टअप्स को लगभग 441 करोड़ रूपये के फंडिंग मूल्य के साथ फंडिंग का मूल्यांकन और अनुमोदन किया जा चुका है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack