उर्मिला धारणिया को मिला जैविक किसान अवार्ड-2022

श्रीगंगानगर ब्यूरो रिपोर्ट।
पिछले करीब आठ वर्ष से जैविक खेती कर रही जिले के गांव मदेंरा निवासी उर्मिला धारणिया को जैविक किसान अवार्ड-2022 से सम्मानित किया गया है। उन्हें यह अवार्ड जयपुर में आयोजित राष्ट्रीय किसान सम्मेलन में कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने दिया। भारतीय जैविक किसान उत्पादक संघ एवं आईआईएएएसडी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस समारोह के दौरान देश के 13 उत्कृष्ट जैविक किसानों को सम्मानित किया गया। बता दें, उर्मिला धारणिया व उनके पति जगदीश धारणिया का जैविक खेती को लेकर अजीब जुनुन है। पिछले करीब आठ वर्ष से जैविक खेती व पशुपालन में इस कद्र रम गए हैं कि उन्हें इस बात की कतई परवाह नहीं है कि उन्हें जैविक उत्पादन का उचित भाव मिलेगा या नहीं। बस उन्हें विश्वास इस बात का है कि एक न एक दिन उनकी मेहनत रंग लाएगी।  उर्मिला धारणिया ने 10 बीघा भूमि पर माल्टा, मौसमी व अमरूद का बाग लगाया है। इसी में गेंहू, चना, सरसों, कपास व ग्वार की फसल के साथ सब्जियां उगाते हैं। इसके अलावा काली तुलसी व एलोवेरा की औषधीय खेती भी करीब डेढ बीघा में कर रही हैं। सब्जियों में खासकर मिर्च, लौकी, करेला, धनिया व पालक की खेती करतीं हैं।  उर्मिला धारणिया जैविक खाद व कीटनाशक के लिए 48 देशी गाय का पालन भी कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack