भाजपा मिशन 2023ः राजे और पूनिया क्या मांग रहे हैं अपने अपने भगवान से।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
भाजपा के मिशन 2023 के बीच इन दिनों नेताओं का 'आराध्य प्रेम' भी देखने को मिल रहा है। भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया देवी-देवताओं की आराधना में व्यस्त नज़र आ रहे हैं। राजे जहां सावन माह में अपने निवास पर रहकर भोलेनाथ का पूजन कर रहीं हैं, तो वहीं डॉ. पूनिया पांच ज़िलों के दौरे के बीच विभिन्न देव-देवालयों में जाकर धोक लगा रहे हैं।
शिव आराधना में लीन राजे।
पूर्व सीएम राजे हर वर्ष की तरह इस बार भी सावन माह के दौरान भगवान शिव की आराधना में लीन हैं। इस दौरान वे अपने निवास पर ही भोलेनाथ की पूजा-अर्चना में व्यस्त हैं। नियमित पूजन के बाद ही वे प्रदेश के विभिन्न कोनों से आने वाले लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं व समर्थकों से मुलाक़ात करती हैं। इन दिनों में वे किसी सार्वजनिक कार्यक्रमों में शिरकत नहीं कर रही हैं। गौरतलब है कि राजे सावन माह के पहले सोमवार को ही वे भगवान शिव का पूजन करने के लिए जयपुर स्थित ताड़केश्वर महादेव मंदिर पहुंची थीं, जहां उन्होंने पूजन कर देश-प्रदेश की खुशहाली की कामना की थी। वहीं बीते 18 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग के दिन भी वे शिव आराधना करने के बाद दोपहर बाद विधानसभा पहुंची थीं।वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया इन दिनों पांच ज़िलों के दौरे पर हैं। इस दौरान वे हर ज़िले के प्रवास के दौरान देव-दर्शन करना नहीं भूल रहे हैं। उनके जारी कार्यक्रम में संगठनात्मक बैठकों के साथ ही देवालयों के दर्शन विशेष रूप से शामिल किए गए हैं। डॉ. पूनिया ने सोमवार को जैसलमेर दौरे के दौरान भादरिया माताजी मंदिर में निर्मल ज्योति भादरिया महाराज स्मृति संग्रह के दर्शन किए और संत हरवंश सिंह निर्मल समाधि के दर्शन किए। उन्होंने भादरिया माताजी मंदिर परिसर में एशिया के सबसे बड़े पुस्तकालय का निरीक्षण भी किया। इससे पहले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. पूनिया ने नागौर प्रवास के दौरान खींवसर में श्री जसनाथ आसन पांचला सिद्धा पीठ और जैसलमेर प्रवास के दौरान तनोट माता मंदिर में धोक लगाई और दर्शन किए। इसी तरह से वे आज मंगलवार को स्वामी अभय दास जी महाराज द्वारा कथा वाचन कार्यक्रम में शामिल हुए और कथा का रसास्वादन किया।प्रवास कार्यक्रम के आखिरी दिन बुधवार को डॉ. पूनिया जोधपुर प्रवास के दौरान जोधपुर सर्किट हाउस में कार्यकर्ताओं से संवाद से पहले शाम 4 बजे पाल बालाजी मंदिर में दर्शन कर पूजा-अर्चना करेंगे। रात्रि विश्राम के बाद 4 अगस्त जयपुर लौट आएंगे। गौरतलब है कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया 31 जुलाई से लेकर 3 अगस्त तक अजमेर, नागौर, जोधपुर, जैसलमेर और बाड़मेर जिलों के प्रवास पर हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack