एसजीएसटी इंटेलिजेंस की बड़ी कार्रवाई, कारोबारी की 22 करोड़ रुपये की पकड़ी टैक्स चोरी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर में स्टेट जीएसटी इंटेलिजेंस विंग ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। एसजीएसटी ने बोगस बिलों के जरिए 22 करोड़ की टैक्स चोरी के मामले में जयपुर के कारोबारी को गिरफ्तार किया है। कारोबारी ने फर्जी बिलों से 125 करोड़ रुपये की खरीदारी दिखाई है। बोगस बिलों के जरिए करीब 22 करोड़ की टैक्स चोरी की गई है। वाणिज्य कर विभाग के मुख्य आयुक्त डॉ. रवि सुरपुर के निर्देशन में कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। एसजीएसटी के अधिकारियों के मुताबिक एसजीएसटी ने टैक्स चोरी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए फर्म संचालक खेमचंद को जीएसटी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है। कारोबारी ने केवल कागजों में ही दिल्ली से 125 करोड़ रुपये की स्क्रेप खरीदी थी। जबकि वास्तविक में माल की खरीद हुई नहीं थी। 125 करोड़ रुपये के फर्जी बिलों से खरीदारी दिखाई गई है।बोगस बिलों के जरिए करीब 22 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी उजागर हुई है। एसजीएसटी ने कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया है। कार्रवाई जीएसटी एक्ट के तहत की गई है। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने आरोपी को 16 अगस्त तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है। स्टेट जीएसटी के अधिकारियों ने आरोपी की फर्म से कई अहम दस्तावेज बरामद किए हैं।एसजीएसटी अधिकारी दस्तावेजों की भी जांच कर रहे हैं। दस्तावेजों की आगामी जांच में टैक्स चोरी का दायरा बढ़ने की संभावना है। कारोबार में शामिल आरोपी के अन्य सहयोगियों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। एसजीएसटी के अधिकारी उनसे भी पूछताछ कर सकते हैं। बता दें, कि एसजीएसटी की ओर लगातार टैक्स चोरों पर निगरानी रखी जा रही है। इससे पहले भी टैक्स चोरी के मामले में कार्रवाई की गई थी। करीब 3 दिन पहले जयपुर के एक नामी होटल पर भी जीएसटी चोरी के मामले में कार्रवाई की गई थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack