एसीबी ने शिक्षा विभाग के एलडीसी को 2500 की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार।

डूंगरपुर-परवेश जैन।
डूंगरपुर एसीबी की टीम ने डूंगरपुर जिले के दोवडा ब्लाक के शिक्षा विभाग के एलडीसी को ढाई हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी ने परिवादी से रिश्वत की राशि एम्पलाई डाटा अप्लोड करने व प्रथम वेतन बिल बनाने की एवज में मांगी थी। इधर आरोपी ने सत्यापान के समय 1500 रुपए ले लिए थे। डूंगरपुर एसीबी डिप्टी हेरम्ब जोशी के नेतृत्व में ये कार्रवाई की गई है। डूंगरपुर जिले के एसीबी के उपाधीक्षक हेरम्ब जोशी ने बताया की राजकीय प्राथमिक स्कूल सीमल घाटी के नवनियुक्त शिक्षक हेमंत परमार ने 27 जुलाई को डूंगरपुर एसीबी के कार्यालय में आकर शिकायत की थी। शिकायत में परिवादी ने बताया था की दोवडा ब्लाक शिक्षा विभाग के अधीन पीईईओ भोजातो का ओडा का एलडीसी मनोज पाटीदार पै-मेनेजर में एम्पलाई डाटा अप्लोड करने व प्रथम वेतन बिल बनाने की एवज में  5 हजार रुपए की राशी रिश्वत के रुप में डिमांड कर रहा है। उन्होंने बताया की परिवादी की ओर से की गई शिकायत का एक अगस्त को सत्यापन करवाया गया। इस दौरान 4 हजार रुपए में सौदा तय हुआ। परिवादी की एलडीसी से बात होने के बाद सत्यापन के दौरान एलडीसी मनोज पाटीदार ने परिवादी से 1500 रूपये ले लिए थे। इधर शिकायत का सत्यापन होने के बाद डूंगरपुर एसीबी की टीम ने ट्रेप का जाल बिछाया और परिवादी को रिश्वत की शेष राशि ढाई हजार रुपए लेकर एलडीसी मनोज पाटीदार के पास दोवडा शिक्षा विभाग के पीईईओ ऑफिस भोजातो का ओडा भेजा। परिवादी ने ऑफिस में जाकर एलडीसी मनोज पाटीदार को रिश्वत की राशी दी वही परिवादी का इशारा पाकर डूंगरपुर एसीबी डिप्टी हेरम्ब जोशी के नेतृत्व में एसीबी की टीम मौके पर पहुंची और आरोपी एलडीसी मनोज पाटीदार को रिश्वत की राशि के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार किया।फिलहाल एसीबी की टीम की कार्रवाई जारी है। आरोपी के घर पर भी सर्च अभियान चल रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack