सेव द चिल्ड्रन द्वारा नवजात शिशु जीवन रक्षा सहायता के लिए दिये अस्पतालों को 50 लाख के उपकरण।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
प्रदेश में नवजात शिशु जीवन को सुरक्षित बनाने और प्राथमिक स्तर पर ही उसे उच्च कोटि का उपचार सुनिश्चित करने की कड़ी में सेव द चिल्ड्रन की ओर से हिंडौन सिटी स्थित जिला अस्पताल व करौली अस्पताल में 25-25 लाख के उपकरण भेंट किये गए । इस अवसर पर प्रमुख चिकित्सा अधिकारी हिंडौन डॉक्टर  पुष्पेंद्र गुप्ता  द्वारा शिशु वार्ड का उद्घाटन किया गया तथा वार्ड में स्वास्थ्य लाभ ले रहे बच्चो के परिजनों से मुलाक़ात की तथा वार्ड में स्थापित विभिन्न उपकरणों  का अवलोकन किया।  इस अवसर पर  डॉक्टर  नमोनारायण मीणा एवं  डॉक्टर रामावतार बंसल के साथ-साथ अस्पताल के चिकित्सक, पैरा मेडिकल स्टाफ सदस्य उपस्थित थे। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी  डॉ गुप्ता ने उपकरणों का अवलोकन करने के पश्चात कहा कि आवश्यक जीवन रक्षा उपकरणों के माध्यम से नवजात शिशुओं को उच्चतम स्तर की गुणवत्तापूर्ण सेवाएं ब्लॉक स्तर पर भी प्रदान की जा सकेंगी। उन्होंने कहा कि मानवता की सेवा के लिए सेव द चिल्ड्रन का यह सहयोग अनुकरणीय है और संस्थाओं को चिकित्सा सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए मुक्त ह्रदय से सहयोग करना चाहिए। सेव द चिल्ड्रन की स्टेट चीफ़ नीमा पन्त ने बताया कि सेव द चिल्ड्रन दुनियां के 120 देशों में बच्चों के स्वास्थ्य, सुरक्षा और संरक्षण के लिए कार्यरत है। कोविड सहायता कार्यक्रम के तहत प्रदेश के अस्पतालों में आक्सीजन कन्सन्ट्रेटर, मास्क, पीपीई किट वितरित किये गए एवम आक्सीजन प्लांट लगाए गए। वर्तमान में बच्चों में टीकाकरण के अभियान चलाए जा रहे हैं और साथ ही बच्चों के लिए आई सी यू बनाये जा रहे हैं।  हम अस्पताल की ज़रूरतों को चिन्हित कर आवश्यकता अनुसार उपकरण प्रदान कर रहे हैं। सेव द चिल्ड्रन के जिला कार्यक्रम समन्वयक अभिषेक श्रीवास्तव ने बताया कि कोविड महामारी के दौरान जीवन रक्षा उपकरण अस्पतालों में देने के साथ करौली के  1308 आंगनबाड़ी केंद्रों  पर  2616 लर्निंग किट वितरित किये गए। इस किट के माध्यम से बच्चे खेल के माध्यम से अपनी सीखने की क्षमताओं का विकास कर सकेंगे। इस अवसर पर बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. रामावतार बंसल भी उपस्थित थे। 
जिला अस्पताल हिंडौन सिटी को मिले 25 लाख के उपकरण।
प्रमुख चिकित्सा अधिकारी हिंडौन डॉक्टर पुष्पेंद्र गुप्ता  ने बताया की सेव द चिल्ड्रन द्वारा 35 विभिन प्रकार के उपकरणों का सहयोग किया गया।  जिनमे 10 व्हील चेयर, 7 स्ट्रेचर ट्राली, 3 ऑक्सीजन ट्राली, 3 ड्रेसिंग ट्राली, 16 अटेंडेंट स्टूलस,  8 ऑफिस चेयर,  8 अलमीरा, 8 ऑफिस टेबल, 15 वेटिंग बेंच, 16 रैक, 10 ऑक्सीज़न सिलिंडर,  30 फाउलर बेड मय गद्दे एवं कवर, 400 बेड शीट, 1 इ सी जी मशीन  13  चैनल , 2 इलेक्ट्रिक सक्शन मशीन, 1 इन्फेंट डिजिटल वेट मशीन , दो 3 इन 1 डिजिटल वेट मशीन, 1 बाइपेप मशीन, 7 मल्टी पैरा मॉनिटर 7अग्नि शामक यन्त्र, 4 पल्स ऑक्सीमीटर, 1रेफ्रीजिरेटर , 10 आए वी  स्टैंड  1 हीमोग्लोबिन टेस्ट मीटर, 2 डिजिटल बी पी मशीन, 1 आयल हीटर, 1 अम्बुआ बैग , 1 आर ओ  मशीन, 10 वाल फैन एवं 6 डस्टबिन शामिल है ।
हिंडौन जिला अस्पताल में हुआ कोरोना वारियर का सम्मान।
इस अवसर पर सेव द चिल्ड्रन की और से कोविड महामारी के दौरान विशिष्ट सेवाएं प्रदान करने के लिए चिकिसाकर्मियों का सम्मान किया गया। सेव द चिल्ड्रन की राज्य प्रमुख नीमा पन्त ने  प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ  पुरुषोत्तम गुप्ता, शिशु चिकित्सा इंचार्ज डॉ  नमोनारायण मीणा,  शिशु चिकित्सक डॉ रामअवतार बंसल,  शिशु वार्ड इंचार्ज भंवर सिंह जाटव,  एस एन सी यू   इंचार्ज  चतर सिंह मीणा  एवं स्टोर इंचार्ज अशोक नारडा को कोविड वॉरियर्स के पुरूस्कार से सम्मानित किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack