6 लाख रूपये की रिश्वत लेते हुए SHO चढा एसीबी के हत्थे, दलाल वकील हुआ फरार।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजधानी जयपुर में एसीबी की टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 6 लाख की रिश्वत लेते SHO को गिरफ्तार किया है। एसीबी टीम ने शिकायत का सत्यापन किया और फिर आरोपी को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। एसएचओ ने परिवादी से जमीन धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार नहीं करने और नाम प्रकरण से हटाने के एवज में रिश्वत राशि की मांग की थी।एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि एडिशनल इंस्पेक्टर हरिनारायण शर्मा दलाल एडवोकेट विश्वनाथ शर्मा के मार्फत यह रिश्वत की राशि ले रहा था। आरोपी पूर्व में भी 4 लाख रुपए की रिश्वत राशि परिवादी से सत्यापन के दौरान ले चुका है। आरोपी ने परिवादी से दलाल के मार्फत 10 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी। इस पर परिवादी ने एसीबी मुख्यालय में शिकायत दर्ज करवाई। एसीबी टीम ने शिकायत का सत्यापन किया और फिर ट्रैप की कार्रवाई को अंजाम दिया।
दलाल वकील हुआ फरार।
आरोपी ने परिवादी को रिश्वत राशि लेकर दलाल एडवोकेट विश्वनाथ शर्मा को देने के लिए थाने से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर बुलाया था। जैसे ही परिवादी ने 6 लाख की रिश्वत राशि दलाल को दी वैसे ही एसीबी टीम उसे पकड़ने के लिए आगे बढ़ी। कार्रवाई की भनक लगते ही आरोपी दलाल विश्वनाथ शर्मा अपनी गाड़ी में बैठ भागने लगा। इस दौरान एसीबी की टीम ने करीब 10 किलोमीटर दूरी तक दलाल का पीछा किया। बीच रास्ते में ही आरोपी विश्वनाथ 6 लाख रुपए की रिश्वत राशि बीच रास्ते में ही फेंक कर फरार हो गया। एसीबी टीम ने रिश्वत की राशि बरामद करने के बाद गोविंदगढ़ थानाधिकारी हरिनारायण शर्मा को गिरफ्ताए कर लिया।हरिनारायण शर्मा ने परिवादी से 10 लाख रुपए की रिश्वत उसके खिलाफ दर्ज 15 बीघा जमीन के धोखाधड़ी मामले में उसे गिरफ्तार नहीं करने और उसका नाम प्रकरण में से हटाने की एवज में मांगे थे। फिलहाल पुलिस प्रकरण को लेकर हरिनारायण से पूछताछ कर रही है। फरार चल रहे दलाल एडवोकेट विश्वनाथ शर्मा की भी तलाश की जा रही है। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसके आवास, कार्यालय और अन्य ठिकानों पर एसीबी की ओर से सर्च की कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack