आस्था के नाम पर अंधविश्वास, बहिन ने की अपनी 7 साल की चचेरी बहिन की हत्या।

डूंगरपुर-प्रवेश जैन।
डूंगरपुर जिले के चितरी थाना क्षेत्र के झिंझवा फला गाँव में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। आस्था की आड़ में अंधविश्वास के चलते एक किशोरी ने माताजी का भाव आना बताकर खूब उत्पात मचाया। इस दौरान किशोरी ने अपनी 7 साल की चचेरी बहिन की गर्दन पर तलवार से वारकर उसकी हत्या कर दी। वही किशोरी ने अपने पिता व काका पर भी हमला कर घायल कर दिया। पुलिस ने आरोपी किशोरी को डिटेन कर लिया है ।डूंगरपुर जिले के चितरी थाने के थानाधिकारी गोविन्द सिंह ने बताया की थानांतर्गत झिंझवा फला गांव में रविवार रात दशा माता व्रत पर्व के दौरान माताजी का भाव आना बताते हुए एक 15 साल की किशोरी ने तलवार लेकर जमकर उत्पात मचाया। वहीं सोई अपनी 7 वर्षीय भतीजी पर तलवार से ताबड़तोड़ वार करते हुए उसकी गर्दन धड़ से अलग कर दी। थानाधिकारी गोविन्द सिंह ने बताया की चीतरी झिंझवा फला में शंकर पुत्र रामजी डेण्डोर के घर पर हरियाली अमावस्या के दिन से दशामाता की प्रतिमा स्थापना कर रोजाना सुबह शाम पूजा अर्चना चल रही है। जिसके तहत रविवार रात को भी रोज की तरह दशा माता की पूजा आरती का कार्यक्रम रात 8 बजे से शुरू हुआ और देर रात तक चलता रहा। इसी दौरान शंकर की 15 साल की पुत्री हाथों में नंगी तलवार लेकर माता का भार आना बताते हुए लोगो से कहने लगी कि मैं सबको मार डालूंगी। यह कहते हुए तलवार लेकर घर आंगन में दौडऩे लगी। शंकर एव उसका बड़ा भाई सुरेश ने किशोरी को पकडऩे की कोशिश की लेकिन इस दौरान किशोरी ने पिता व काका पर तलवार से वार किया। इससे दोनों को हल्की चोटें आई। उसके बाद परिवार के लोग इधर-उधर भागने लगे। इस दौरान उसी घर में सुरेश की 7 साल की पुत्री पुष्पा घर के अंदर सोई हुई थी। किशोरी उसके पास गई और उसे घसीटते हुए मकान के दूसरे हिस्से में ले जाकर तलवार से ताबड़तोड़ वार कर गर्दन धड़ से अलग कर दी। इधर जैसे-तैसे परिवार के लोगो ने घेरा डालकर किशोरी को पकड़ा। घटना की सुचना पर चीतरी थानाधिकारी गोविन्दसिंह मय जाप्ता मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। इधर पुलिस ने आरोपी किशोरी को डिटेन कर लिया है। बांसवाडा से एसएफएल की टीम को बुलाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack