प्रशासनिक सुधार विभाग जयपुर की टीम ने सरकारी कार्यालयों मे मारा छापा, बडी संख्या में गायब मिले कर्मचारी।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चित्तौड़गढ़ में सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों और कार्मिकों कि लेटलतीफी की आदत जग जाहिर है। जिसमें अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने कार्यालय में आने का समय खुद के द्वारा ही निर्धारित किया हुआ है। अधिकतर कार्मिक अपने-अपने कार्यालयों में देरी से आने में अपनी शान समझते हैं। इसी की सूचना पर प्रशासनिक सुधार विभाग जयपुर की 5 सदस्य टीम चित्तौड़गढ़ पहुंची टीम के सदस्यों ने अलग-अलग विभागों में सवेरे 9:30 बजे से 10:30 बजे तक जाकर लेट लतीफ अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही की और कार्यालयों से उपस्थिति रजिस्टर भी जप्त किए हैं। जिसमें बड़ी संख्या में अधिकारी और कार्मिक उपस्थित नहीं मिले। जिनकी पहचान की जा रही है।
वहीं इस बड़ी कार्यवाही के बाद सरकारी विभागों में कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। इस पूरी कार्यवाही के बारे में जानकारी देते हुए प्रशासनिक सुधार विभाग जयपुर की टीम के डिप्टी डायरेक्टर के आर मीणा ने बताया कि विगत कई दिनों से सरकारी विभाग में अधिकारियों और कर्मचारियों के देरी से आने की सूचना मिल रही थी इसी पर उच्च अधिकारियों के निर्देश पर 5 सदस्य टीम चित्तौड़गढ़ पहुंची और अलग-अलग टीमों के साथ 2 दर्जन से अधिक सरकारी विभागों जिसमें प्रमुख रुप से जिला परिवहन विभाग, बाल विकास, सीएमएचओ, जिला चिकित्सालय, पीएचइडी, खनिज विभाग, पीडब्ल्यूडी, नगर परिषद, शिक्षा विभाग, पशु चिकित्सालय,यूआईटी,पंचायत समिति,रोडवेज सहित कई अन्य विभागों का औचक निरीक्षण किया गया और उपस्थिति पंजिका रजिस्टर को जप्त किया गया है। जिसमे निरीक्षण के दौरान बड़ी संख्या में अधिकारियों और कर्मचारियों नदारद मिले। उन्होंने बताया कि जब तक किए गए सभी विभागों के उपस्थिति पंजिका रजिस्टर जिला कलेक्टर कार्यालय लाए गए हैं। जहां पर लेट लतीफ अधिकारियों और कर्मचारियों की पहचान की जा रही है। जिन पर उच्च अधिकारियों के निर्देश पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। वही जानकारी में सामने आया है कि वर्ष 2019 के बाद प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम ने यह कार्रवाई की है इस कार्यवाही के बाद जहां अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति देखी गईं है। अब देखना यह है कि इस कार्यवाही के बाद आदतन देरी से आने वाले अधिकारी और कर्मचारी कितनी सीख लेते हैं यह तो आने वाला समय ही बताएगा। लेकिन इस कार्यवाही के बाद सरकारी कार्यालयों में अपने काम को लेकर जल्दी आने वाले आमजन को थोड़ा सा सुकून जरूर मिलेगा कि आने वाले दिनों में लेट लतीफ अधिकारी और कर्मचारी समय पर आकर आमजन का काम करने की प्रेरणा लेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack