जालोर में मासूम की मौत मामला, एससी एसटी वर्ग की आक्रोश रैली आज।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जालोर में दलित बच्चे की मौत के मामले में अब एससी-एसटी वर्ग सड़कों पर उतर रहा है। आक्रोशित एससी एसटी वर्ग आज राजधानी जयपुर में आक्रोश रैली निकालेगा। इस रैली में एससी एसटी वर्ग के मौजूदा और सेवानिवृत्त अधिकारी कर्मचारियों के साथ समाज के बड़ी संख्या में युवा, बुजुर्ग और महिलाएं शामिल होंगी। खास बात यह है कि इस आक्रोश रैली में सभी विरोध स्वरूप सफेद ड्रेस में होंगे। अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण संयुक्त संघर्ष समिति के संरक्षक पूर्व आईएएस महेंद्र सिंह ने बताया कि जालोर में एक बच्चे को स्कूल के अध्यापक ने इसलिए पिटाई करके मार दिया, क्योंकि उसने उसके घड़े का पानी छू लिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि राजस्थान में लगातार दलितों के साथ इस तरह की घटनाएं हो रही हैं। बार-बार सरकार से आग्रह करने के बाद भी दलितों पर होने वाले अत्याचार कम नहीं हो रहे हैं। इसी को लेकर समाज में भारी आक्रोश है। इसी आक्रोश को जाहिर करने के लिए 24 अगस्त को राजधानी जयपुर में एससी एसटी वर्ग के हजारों लोग सड़कों पर उतरेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों से एससी एसटी वर्ग से जुड़े संगठन के लोग सुबह 11:00 बजे शहीद स्मारक गवर्नमेंट हॉस्टल पर एकत्रित होकर शांति मार्च के रूप में सिविल लाइंस फाटक जाएंगे। साथ ही मुख्यमंत्री को ज्ञापन देंगे। संघर्ष समिति के अनिल गोठवाल ने कहा कि यह आक्रोश पूरी तरीके से शांति मार्च के रूप में होगी. हम इस रैली में किसी भी तरह के किसी भी राजनीतिक पार्टी का झंडा इस्तेमाल नहीं करेंगे। साथ ही न ही किसी के खिलाफ और न ही पक्ष में हम नारे लगाएंगे। ये रैली समाज को मिले संवैधानिक अधिकारों के लिए निकाली जा रही है। पूर्ण रूप से ये रैली शांति मार्च के रूप में होगी। इसलिए हमने रैली में शामिल होने वाले समाज के सभी लोगों को आग्रह किया है कि वह सफेद ड्रेस पहनकर आएं। रैली में किसी भी तरह की कोई न्यूसेंस नहीं हो इसके लिए संघर्ष समिति की एक कोर टीम बनाई गई है, जो इस बात का विशेष ध्यान रखेगी। यह सिर्फ आक्रोश है जो शांतिपूर्ण तरीके से हम सरकार के सामने रखेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack