चंबल नदी के उफान से आधा दर्जन गांव कराए खाली।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
राजस्थान के हाड़ौती अंचल में भारी बरसात होने के पश्चात चंबल नदी के रौद्र रूप के कारण सवाई माधोपुर जिले में चंबल नदी के तटवर्तीय इलाकों पर बसे गांवों की हालत बदतर है । आधा दर्जन गांव खाली किए गए हैं तो करीब एक दर्जन गांव पानी से चारों और घिर गए हैं। ऐसे में चंबल नदी के किनारे बसे ग्रामीणों की जिंदगी बुरी तरह से सांसत में है। दरअसल हाडोती अंचल की भारी बरसात का खामियाजा सवाईमाधोपुर जिले में एक दर्जन से अधिक गांवो के ग्रामीण झेल रहे हैं। राजस्थान तथा मध्य प्रदेश को दो भागों में बांटने वाली चंबल नदी अपने रौद्र रूप में बह रही है। खतरे के निशान से ऊपर बह रही चंबल नदी के कारण राजस्थान व मध्यप्रदेश का सड़क संपर्क भी पूरी तरह से कट गया है । चंबल नदी के किनारे बसे आधा दर्जन गांवों को जिला प्रशासन द्वारा खाली करवाया गया है। साथ ही अन्य करीब एक दर्जन गांव पानी से चारों और घिर गए हैं। 
जिला प्रशासन इस दौरान पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है। जिला कलेक्टर सुरेश कुमार लगातार चंबल नदी के पानी से प्रभावित गांव का दौरा कर रहे हैं और समुचित व्यवस्थाओं को अंजाम दे रहे हैं। चंबल नदी के दोनों और पुलिया पर जिला प्रशासन द्वारा आवाजाही बंद कर दी गई है। किसी को आने जाने की इजाजत नहीं है। ऐसे में मजबूरी के मारे कई लोग पैदल ही अपना रास्ता तय करने को मजबूर हैं ।सवाई माधोपुर जिले की समाप्ति के साथ ही मध्य प्रदेश की सीमा के प्रारंभ में बस से दांतरदा गांव की सड़क पानी में जल मग्न है। सड़क पर 15 फीट पानी बह रहा है। नाव की सहायता से लोगों को दूसरी ओर निकाला जा रहा है । सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया भी बाढ़ से प्रभावित इलाकों का दौरा कर ग्रामीणों की हर संभव मदद का भरोसा दे रहे है। ग्रामीण बताते हैं कि लगभग दो दशक के पश्चात चंबल नदी में इतने वेग से पानी आया है चंबल नदी 26 मीटर से ऊपर खतरे के निशान से बह रही है। सैकड़ों की तादाद में मकान जलमग्न हो गए हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान किसी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई है। लेकिन डूब क्षेत्र में आए गांवों की तथा ग्रामीणों की हालत बेहद खस्ता है। जब तक नदी का पानी नहीं उतर जाता तब तक हालात सामान्य नहीं कहे जा सकते हैं । जिला प्रशासन हालातों पर अपनी चौकस निगाहें बनाए हुए हैं । वही आज सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ने चंबल प्रभावित गांवों का दौरा कर हालातो का जायजा लिया।इस दौरान सांसद ने मध्यप्रदेश के समरसा गांव के हालात भी देखे और मध्यप्रदेश पुलिस से भी जानकारी ली। जौनापुरिया ने चंबल प्रभावित क्षेत्र के दौरे के दौरान ग्रामीणों को हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया है।वही जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला भी लगातार क्षेत्र के दौरे पर है।चंबल के रौद्र रूप के चलते दर्जन भर गांव बुरी तरह से प्रभावित है जहाँ जनजीवन अस्तव्यस्त है। हालांकि प्रशासन की मुस्तेदी के चलते किसी भी तरह की कोई जनहानि नही हुई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack