छात्र नेताओं ने चुनावी जंग में ठोकी ताल, आज से चुनाव प्रचार होगा तेज।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार।
छात्र संघ चुनावो में नामांकन में आपत्ति का दौर भी खत्म हो गया। अब मंगलवार 10 बजे का सभी को इंतजार है। जब लिस्ट चस्पा होगी और उम्मीदवारों का फैसला होगा कि आखिर कौन मैदान में रह जाता है और किसको हताश होना पड़ेगा।हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय के सबसे ज्यादा मतदाता वाले एक मात्र सरकारी कॉलेज एनएमपीजी में अध्यक्ष पद के लिए 5 नामांकन भरे गए। 3 उपाध्यक्ष,2 महासचिव और 2 ही सयुंक्त सचिव के लिए नामांकन भरे गए। कॉलेज के पूर्व छात्र संग अध्यक्षो रोहित स्वामी और राजेश पूरी ने छात्र सुखदीप सिंह को अध्यक्ष पद के लिए समर्थन देते हुए मैदान में उतारा है। NSUI के पूर्व पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने करण सिंह और रोहित जावा दोनो को अध्यक्ष पद के लिए चुनाव मैदान में उतारा है। 
अटकलें ये लगाई जा रही है कि अगर रोहित जावा का नामांकन कल सही पाया जाता है तो करण सिंह मैदान में पीछे हट जाएंगे। एसएफआई की तरफ से आलोक ने अध्यक्ष पद के लिए दांव ठोका है। जिसका समर्थन पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष महेंद्र शर्मा और राजू खान कर रहे हैं। वहीं एबीवीपी ने छात्र जयपाल को समर्थन दिया है। बताया जा रहा है कि श्याम सिंह शेखावत ने छात्र जयपाल को समर्थन किया है।
वहीं उपाध्यक्ष पद के लिए भी तीन नामांकन भरे गए हैं। छात्रा योगिता ने उपाध्यक्ष पद के लिए एसएफआई के समर्थन के बाद ताल ठोकी है तो वहीं उनके मुकाबले में छात्र मोर्यवर्धन को NSUI के पूर्व कार्यकर्ताओ व पदाधिकारियों ने समर्थन देकर उपाध्यक्ष के लिए मैदान में उतारा है। वहीं छात्र वंश निर्दलीय अपनी किस्मत उपाध्यक्ष पद के लिए आजमा रहा है।ऐसे ही सयुंक्त सचिव पद के लिए एसएफआई से कुलदीप अपनी किस्मत आजमा रहे हैं तो वहीं कर्मवीर निर्दलीय कुलदीप को टक्कर देने के लिए मैदान में उतरा है। महासचिव पद के लिए भी दो नामांकन भरे गए हैं। जिसमे छात्रा प्रियंका शर्मा ने एसएफआई से महासचिव के लिए नामांकन दाखिल किया है तो उससे टक्कर लेने के लिए छात्र भीमसेन ने नामांकन दाखिल किया है। अब मंगलवार को सूची सामने आने के बाद ही आगे की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack