कुम्भलगढ़ अभयारण्य को घोषित करने के प्रस्ताव पर गहलोत सरकार नहीं कर रही कोई कार्रवाई-दीया कुमारी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) की सदस्य एवं सांसद राजसमंद दीया कुमारी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर कुम्भलगढ़ अभयारण्य को बाघ अभयारण्य घोषित करने की राज्य सरकार की अनुशंसा को जल्द केंद्र को भेजने की मांग की है। इससे पूर्व में भी पत्र भेजने के बावजूद राज्य सरकार लगातार अनुशंसा में देरी कर रही है। सांसद दीया कुमारी ने बताया कि एनटीसीए ने 10 नवंबर 2021 को राज्य सरकार को उपयुक्त कार्यवाही के लिए व्यवहार्यता आकलन रिपोर्ट भेजी थी ताकि कुंभलगढ़ और टाडगढ़ वन्यजीव अभयारण्यों को बाघ अभयारण्य घोषित करने की प्रक्रिया शुरू की जा सके। राज्य सरकार को रिपोर्ट पर अग्रिम कार्रवाई करते हुए इसे अपनी अनुशंसा के साथ वन्यजीव और पर्यावरण मंत्रालय को भेजना है। हालांकि अभी तक राजस्थान सरकार की ओर से इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं की गई है। सांसद ने आगे कहा कि टाइगर रिजर्व स्थानीय रोजगार, पर्यटन और जैविक विविधता को बढ़ावा देने के साथ-साथ क्षेत्रवासियों की मांगों को पूरा करेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए कुम्भलगढ़ रावली-टाडगढ़ क्षेत्र को बाघ अभ्यारण्य घोषित करने के प्रस्ताव पर अविलम्ब कार्यवाही की जानी चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack