भष्ट्र अफसर को सरकार ने लगाया बुनकर संघ के एमडी के पद पर।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जून 2021 में 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा रंगे हाथों पकड़े गए श्रम आयुक्त प्रतीक झाझड़िया को राज्य सरकार ने उस वक़्त तो निलंबित कर दिया था। कार्मिक विभाग ने झाझड़िया के निलंबन के आदेश भी जारी कर दिए थे। निलंबन काल के दौरान प्रतीक ने अपनी सेवाएं प्रमुख सचिव कार्मिक विभाग, जयपुर में दी। रिश्वत लेने के मामले में प्रतीक जेल में भी बंद रहे। आरोप था कि रिश्वत की रकम मासिक बंधी के रूप में दलालों के मार्फत श्रम विभाग के अफसरों से वसूली जा रही थी। भ्रष्टाचार के मामले में जमकर चांदी कुटी जा रही थी। इतना सब होने के बावजूद एकबार फिर राजस्थान सरकार ने प्रतीक झाझड़िया को पोस्टिंग दे दी है। अब एपीओ चल रहे प्रतीक झांझडिया को बुनकर संघ में एमडी लगाया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack