प्रारंभिक विकास एवं देखरेख के तीन स्तंभों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की कार्यशाला।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
महिला एवं बाल विकास विभाग और पीरामल फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में प्रारंभिक शिक्षा एवं देखरेख कार्यक्रम पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का आयोजन पंचायत समिति के मीटिंग हॉल में किया गया। यह दो दिवसीय कार्यक्रम है। जिसके प्रथम दिवस में 100 आंगनबाड़ी केंद्रों की कार्यकर्ताओं प्रारंभिक विकास एवं देखरेख के तीन स्तंभों पर ट्रेनिंग दी गई। उन्होने बताया कि पोषण एवं स्वास्थ्य, प्रारंभिक शिक्षा/स्कूल रेडनेस एवं सुरक्षा और बचाव इसके तीन स्तम्भ है। इस ट्रेनिंग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रारंभिक शिक्षा एवं देखरेख कार्यक्रम से संबंधित पुस्तकें प्रदान की गई। इस सेट में 9 पुस्तकें दी गई, जिसमें 10 सप्ताह की कार्ययोजना दी गई है। इस कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर सुहेल खान, जिला समन्वयक, पोषण अभियान उपस्थित थे। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रारंभिक शिक्षा एवं देखरेख कार्यक्रम पर बात कही। उन्होंने कहा कि आप इन किताबों में दी गई गतिविधियों के माध्यम से बच्चों के साथ शिक्षण कार्य करें। साथ ही इन पुस्तकों को संभाल कर रखें। इस कार्यशाला में महिला पर्यवेक्षक भी उपस्थित थी। पीरामल फाउंडेशन की तरफ से श्याम शर्मा, जिला प्रतिनिधि, मुकेश शर्मा और गोपाल सिंह, प्रोग्राम लीडर, सत्यम पांडेय, मूलचंद मीना, निधिश्री मिश्रा और स्वेता वर्मा उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack