मूक पशुओं के लिए लम्पी वायरस जानलेवा-मंत्री प्रमोद भाया।

बारां-हंसपाल यादव।
खान, पेट्रोलियम एवं गोपालन विभाग मंत्री प्रमोद जैन भाया ने कहा कि भारी वर्षा का दौर जारी है। जिसके मद्देनजर सतर्कता व सजकता से कार्य करने की आवश्यकता है साथ ही लम्पी वायरस की प्रभावी रोकथाम भी की जानी चाहिए। खान, पेट्रोलियम एवं गोपालन विभाग मंत्री मिनी सचिवालय सभागार में अत्यधिक वर्षा एवं लम्पी वायरस के संबंध में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने लम्पी वायरस, सड़कों की स्थिति, आपदा प्रबंधन, मौसमी बीमारियों की रोकथाम, बांधों व तालाबों की प्रभावी निगरानी संबंधी विस्तृत समीक्षा कर निर्देश दिए।
लम्पी वायरस जानलेवा।
भाया ने कहा कि मूक पशु लम्पी वायरस के संक्रमण से तड़प-तड़प कर मर रहे हैं यह जानलेवा है। उन्होंने पशुपालन विभाग के अधिकारियों को लम्पी वायरस की रोकथाम के लिए जिले में सजग होकर कार्य करने के निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि लम्पी वायरस पशुओं के लिए जानलेवा है। इसकी रोकथाम के लिए समस्त गौशालाओं, पशु बाड़ों एवं आवारा मवेशियों के टीकाकरण कार्य शीघ्र पूर्ण किया जाना चाहिए। साथ ही स्थानिय निकायों के माध्यम से इन स्थानों पर फोगिंग भी करवाई जानी चाहिए। उन्होंने जिला कलक्टर को गौशाला संचालकों की बैठक आयोजित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस संबंध में पषुओं में लम्पी वायरस की रोकथाम के लिए पेम्पलेट, प्रचार-प्रसार के माध्यम से जागरूकता की आवश्यकता है। साथ ही कहा कि पशुपालन विभाग को गंभीरता से कार्य करने की आवश्यकता है जिसके तहत पशु चिकित्सकों के नेतृत्व में टीमेें बनाकर वेक्सीनेशन का कार्य करें। जिसकी दैनिक मॉनिटरिंग एडीएम बारां द्वारा की जाएगी। बैठक में जिले में आयोजित पशु मेलों में बाहरी जिलों से पशुओं के आने पर रोक लगाने के निर्देष भी दिए गए।
मुम्बई की टीम का किया सम्मान।
खान, पेट्रोलियम एवं गोपालन विभाग मंत्री ने जिले में पशुओं में लम्पी वायरस की रोकथाम के कार्य कर रही मुम्बई से आई टीम ट्रस्ट समस्त महाजन मुम्बई का माल्यार्पण कर सम्मान किया। उक्त टीम ने देवेन्द्र जैन के नेतृत्व में ग्रामीण क्षेत्रों में पशुओं में लम्पी वायरस की रोकथाम के लिए उल्लेखनीय कार्य किया है। इस मौके पर दुग्ध समिति अध्यक्ष प्रदीप काबरा, बीसूका उपाध्यक्ष, जिला कलक्टर नरेन्द्र गुप्ता ने भी मुम्बई की टीम का पशुओं को वेक्सीनेशन के लिए मार्ल्यापण कर सम्मानित किया। सम्मानित टीम में देवेन्द्र जैन, जसराज श्रीमाल एवं सदस्य शामिल रहे।
सड़कों की स्थिति दुरूस्त करें।
भाया ने कहा कि जिले में अत्यधिक वर्षा के कारण कई स्थानों पर सड़कों की स्थिति खराब हुई एवं बडे खड्डों के कारण आमजन को काफी असुविधा हो रही है जिसके तहत खड्डों को डब्ल्यूबीएम से भरना चाहिए जिससे कोई बडी दुर्घटना ना हो। साथ ही जिन सड़कों के टेण्डर होकर वर्कआर्डर जारी हो गए है उनके ठेकेदारों से बात कर सड़कों की आवश्यक मरम्मत करवानी चाहिए जिससे आमजन को तत्काल राहत मिल सके। भाया ने कहा कि वर्षा थमने के बाद जिन सड़कों का पेचवर्क कार्य करवाया जा रहा है उसकी प्रभावी मॉनिटरिंग की जानी चाहिए यदि किसी ठेकेदार द्वारा गुणवत्ता में कमी रखी जाती है उस पर पेनल्टी लगावें या तुरंत ब्लेक लिस्ट किया जाना चाहिए। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने बताया कि हेवी रेनफॉल के कारण अन्ता-मांगरोल में 19, अटरू में 7, किशनगंज-शाहबाद में 20 मार्ग अवरूद्ध हुए है, नुकसान का आंकलन वर्षा थमने के बाद किया जा सकेगा। बारां-अटरू मार्ग के लिए दुबारा टेण्डर किया गया है एपू्रवल मिलते ही कार्य प्रारंभ किया जाएगा।
बांधों एवं तालाबों की निगरानी रखें।
भाया ने कहा कि जिले में अत्यधिक वर्षा का दौर जारी है ऐसे में सतर्कता व सजगता की आवश्यकता है। जिससे जनहानि से बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि इरिगेशन विभाग के अधिकारी जिले के बांधों एवं बडे तालाबों की प्रभावी मॉनिटरिंग रखना सुनिष्चित करे। जिससे कहीं भी जलभराव की स्थिति उत्पन्न ना हो। साथ ही पंचायतों के अधीन बडे तालाबों का भी संबंधित जेईएन, एईएन के माध्यम से भौतिक निरीक्षण करवाना सुनिष्चित करेंगे। जिन स्थानों पर मिट्टी के कट्टे एवं अन्य व्यवस्थाओं की जरूरत है उसे शीघ्र पूर्ण करें।
खान, पेट्रोलियम एवं गोपालन विभाग मंत्री ने जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि वर्षा के कारण मौसमी बीमारियां की रोकथाम के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक दवाओं की उपलब्धता के साथ अलर्ट पर रखना सुनिष्चित किया जाना चाहिए। बैठक में जिला दुग्ध समिति अध्यक्ष प्रदीप काबरा, बीसूका उपाध्यक्ष राम, एडीएम एसएन आमेठा, सीईओ जिला परिषद कृष्णा शुक्ला एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack