सरपंच संघ ने विभिन्न मांगो को लेकर दिया धरना, सरकार पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप।

डूंगरपुर-प्रवेश जैन।
डूंगरपुर जिले के सरपंच संघ राज्य सरकार के खिलाफ आन्दोलन की राह पर निकल पड़े है। डूंगरपुर जिला सरपंच संघ ने अपनी लंबित मांगो व ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री के बयान के विरोध में कलेक्ट्रेट के बाहर धरना दिया। वही सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। इधर इस मौके पर सरपंच संघ ने अपनी मांगो को लेकर कलेक्टर को सीएम के नाम ज्ञापन दिया है। मांगे पुरी नहीं होने पर 5 अगस्त को जयपुर में पड़ाव डालने की चेतावनी दी है।डूंगरपुर जिला सरपंच संघ के जिला अध्यक्ष लीलाराम वरहात के नेतृत्व में जिलेभर के सरपंच डूंगरपुर कलेक्ट्रेट पर एकत्रित हुए। इस दौरान सरपंच संघ के बेनर तले जिले के सरपंचो ने कलेक्ट्रेट के बाहर राज्य सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में धरना दिया वही प्रदर्शन भी किया। इस मौके पर डूंगरपुर जिला सरपंच संघ के जिला अध्यक्ष लीलाराम वरहात ने बताया की राज्य सरकार व पंचायतीराज विभाग द्वारा 21 मार्च 2022 को सरपंच संघ से उनकी मांगो को लेकर लिखित समझोता किया था। लेकिन चार माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार व विभाग ने उनकी मांगो को लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया है। जिसको लेकर प्रदेशभर के सरपंचो में सरकार के खिलाफ आक्रोश है। इधर इस मौके पर डूंगरपुर जिला सरपंच संघ के जिला अध्यक्ष लीलाराम वरहात ने प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री द्वारा सरपंचो पर भ्रष्टाचार के लगाये आरोपों पर भी विरोध जताया। सरपंच संघ ने सीएम से मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इधर धरना प्रदर्शन के बाद सरपंच संघ ने डूंगरपुर जिला कलेक्टर को सीएम के नाम ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में सरपंच संघ ने लिखित समझोते के तहत जिन मांगो पर सहमती बनी थी उन मांगो को पूरा करने की मांग की है।वही मांगे पूरी नहीं होने पर 5 अगस्त को जयपुर में पड़ाव डालने की चेतावनी दी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack