एसडी कॉलेज के छात्र संघ चुनाव में अनिरुद्ध के खारिज पर्चे पर कोर्ट का स्थगन,मिली राहत मगर फिलहाल कालेज में चुनाव नहीं।

श्रीगंगानगर से राकेश मितवा
श्रीगंगानगर छात्र संघ चुनाव में एसडी कॉलेज के छात्र संघ चुनाव का घमासान जारी है। 2 दिन पहले जहां नाम वापसी के अंतिम दिन अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार अनिरुद्ध राजपाल व प्रेम गंभीर में से अनिरुद्ध राजपाल के पर्चे को तकनीकी कारणों से खारिज कर प्रेम गंभीर को एकमात्र निर्विरोध उम्मीदवार घोषित किया गया, वहीं लगातार दो दिनों तक पीड़ित छात्रों के आरोप-प्रत्यारोप तथा कॉलेज प्रशासन की सफाई के बीच आज सूचना है कि हाईकोर्ट ने अनिरुद्ध के निरस्त नामांकन के आदेश को खारिज कर दिया है। इससे अनिरुद्ध राजपाल खेमे को काफी राहत मिली है वहीं कॉलेज प्रशासन के लिए अब चुनाव करवाने की जिम्मेदारी बढ़ गई है ।
गौरतलब है कि कल ही चुनाव होने जा रहे हैं जिसमें इस प्रकार के आदेश की कॉपी अभी तक कॉलेज प्रबंधन के पास नहीं पहुंची है ऐसे में फिर भी कॉलेज प्रबंधन भी पूरी तरह से चुनाव करवाने के लिए भी तैयार है ।गौरतलब है कि श्री गंगानगर एसडी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए  प्रथम गंभीर व अनिरुद्ध राजपाल आमने-सामने उम्मीदवार थे । अनिरुद्ध राजपाल का नामांकन तकनीकी कारणों से निरस्त कर दिया गया था ।जिसे लेकर अनिरुद्ध राजपाल ने कॉलेज प्रशासन की तकनीकी कमेटी के सामने अपना पक्ष रखा था ,मगर उसके पक्ष को स्वीकार नही किया गया था। इसके बाद धरना प्रदर्शन के बीच आज राजपाल द्वारा हाई कोर्ट में स्टे के लिए दायर याचिका पर जानकारी है कि अनिरुद्ध के पक्ष में फैसला आया है ।
अभी फैसले की कॉपी हासिल नहीं हो पाई है मगर अनिरुद्ध के निरस्त नामांकन के आदेश को अपास्त कर दिया गया है ऐसे में अनिरुद्ध के खेमे को काफी राहत मिली है । गौरतलब है कि अनिरुद्ध राजपाल खेमे ने कॉलेज प्रबंधन पर जानबूझकर उसका पर्चा खारिज करने के आरोप लगाए थे। इसे लेकर शहर के बड़े नेताओं में भी काफी हलचल मची थी वह भी इस मामले में कूद पड़े थे। माहौल काफी गर्म  हुआ था । गौरतलब है कि अनिरुद्ध राजपाल चार बार विधायक रहे पूर्व मंत्री राधेश्याम गंगानगर के पुत्र हैं ।
इसी बीच आज होटल डेजर्ट गोल्ड में राजपाल खेमे द्वारा पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। पत्रकार वार्ता में उम्मीदवार अनिरुद्ध राजपाल, छात्र नेता रमजान अली, ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं छात्र नेता धर्मवीर डूडेजा  , लोकेश मनचंदा, मदन मेंव, वीरेंद्र राजपाल सहित अनेक नेता गणों ने इस अन्याय के खिलाफ लगातार लड़ने की बात कही ।
वहीं छात्र नेता रमजान अली चौबदार का कहना था कि इस अन्याय के खिलाफ बाद में करीब 250 से ज्यादा अनिरुद्ध राजपाल के समर्थक छात्र कॉलेज से अपनी टीसी कटवा लेंगे।आरोप है अनिरुद्ध का फार्म नामांकन जानबूझकर कैंसिल किया गया नियमों की अनदेखी करते हुए उसे जानबूझकर चुनाव प्रक्रिया से बाहर किया कर प्रथम गंभीर को  एकमात्र उम्मीदवार षड़यंत्र पूर्वक घोषित किया गया था। सारी कार्यवाही विद्वेष पूर्ण की गई ।
इसी बीच कॉलेज प्रशासन ने भी एक पत्रकार वार्ता  कर अनिरुद्ध को लेकर स्थिति स्पष्ट करते हुए बताया कि अनिरुद्ध ने गत वर्ष एलएलबी तृतीय वर्ष की परीक्षा एसडी पीजी ला कॉलेज से की है, इस बार उसने एसडी पीजी कॉलेज में अपना एडमिशन लिया है। अनिरुद्ध के एलएलबी तृतीय वर्ष का परिणाम अभी आया नहीं है , उसने 3 साल पहले की गई बीबीए की डिग्री के आधार पर एसडी पीजी कॉलेज में अपना प्रवेश लिया है । चुनाव लड़ने का इच्छुक छात्र नियमानुसार गत वर्ष संबंधित महाविद्यालय का छात्र होना चाहिए। वह गत वर्ष sd कॉलेज  का छात्र नहीं था, ऐसे में वह नियमानुसार चुनाव लड़ने के अयोग्य घोषित किया गया था।
इसी बीच कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय के संयुक्त निदेशक अकादमी डॉक्टर शैला महान का एक ईमेल कॉलेज प्रशासन को भेजा गया,  जिसमें उन्होंने अनिरुद्ध राजपाल की शिकायत पर कॉलेज प्रशासन को मामला इलेक्शन कमेटी के सामने रखकर लिंगदोह कमेटी के नियमानुसार निस्तारण करने की बात कही थी।
इसी बीच राजपाल पक्ष द्वारा हाईकोर्ट में  स्टे के लिए रिट दायर करने की बात सामने आई, जिसमें खबर आ रही है कि न्यायालय से अनिरुद्ध राजपाल को स्टे मिल गया है । तथा अब उनके चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है ।
लगभग इतनी जद्दोजहद के बाद फिलहाल अनिरुद्ध राजपाल को फौरी राहत मिली है वहीं राजपाल खेमा अब चुनाव लड़ने की भी तैयारी में जुट गया है। इधर कॉलेज प्रशासन भी हाईकोर्ट के आदेशों तथा आयुक्तालय के निर्देशों का इंतजार कर रहा है और उसी अनुसार आगे इस दिशा में नियमानुसार पालना करने की बात कह रहा है ।
फिलहाल एसडी पीजी कॉलेज में आज चुनाव नहीं हो रहे इस आशय का बैनर लगा दिया गया है तथा बड़ी तादाद में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है आशंका थी कि हाईकोर्ट के स्थगन आदेश के बाद अनिरुद्ध राजपाल समर्थक एसडी कॉलेज के आगे आकर प्रदर्शन करेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack