हुस्न के रेशमी जाल से बुने हनी ट्रैप में ब्लैकमेलिंग का काला धंधा।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार।
अपनी हुस्न की अदाओं से पहले वो लोगों पर डोरे डालती है। फिर हुस्न के जाल में फंसते ही शुरू हो जाता है ब्लैकमेलिंग का काला खेल। ऐसे ही ब्लैकमेलिंग का खेल सामने आया हनुमानगढ़ टाउन थाना क्षेत्र मे। जिसमे पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार करते हुए न्यायलय मे पेश कर उसका रिमांड लिया है। जाँच अधिकारी ST SC सेल CO प्रहलाद राय ने बताया की आरोपी गुलाब सिंह को गिरफ्तार कर उससे पैसे व हथियार व प्रकरण मे प्रयुक्त अन्य समान की बरामदगी व बाकि आरोपीओं को भी तलाशने का प्रयास किया जा रहा है।
यह था मामला।
हनुमानगढ़ के संगरिया क्षेत्र के रहने वाले धन्नाराम ने 3 अगस्त 2022 को टाउन थाने मे रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए बताया कि उसे खेती के लिए ट्रॉली की आवश्यकता थी। इस बारे में उसने गांव के गुलाबसिंह को भी बताया था। ऐसे में गुलाब सिंह ने उसे हनुमानगढ़ शहर का एक एड्रेस बता दिया। जब धन्नाराम गुलाब के बताए एड्रेस पर पहुंचा तो वहां दो महिला और दो आदमी मौजूद थे। जब धन्नाराम ने उनसे बात की तो उन्होंने धन्नाराम को एक कमरे में बैठा दिया। और कपड़े खोलने लगे। जब इसके लिए धन्नाराम ने मना किया तो उन लोगों ने धन्नाराम को जान से मारने की धमकी दी।कुछ देर बाद धन्नाराम का जानकार गुलाब सिंह भी वहां आ गया। जिसके बाद उन लोगों ने पिस्तौल निकाली और बंदूक की नोक पर ही धन्नाराम का दो महिलाओं के साथ अश्लील वीडियो बना लिया था और फिर उस वीडियो को वायरल करने के नाम पर 1 लाख रुपए मांगे। इस दौरान 5 हजार तो धन्नाराम की जेब में रखे हुए थे जो बदमाशों ने निकाल लिए थे । इसके बाद 95 हजार धन्नाराम ने एक होटल संचालक से लाने को कहा। जहां से एक बदमाश बिना नंबर की बाइक पर होटल के लिए रवाना हुआ और पैसे लेकर फरार हो गया था। जिस पर पुलिस ने विभिन्न धराओं मे मुकदमा दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी थी।

आरोपी पूर्व मे भी हनीट्रैप मामले मे जा चुका है जेल।

गौरतलब है कि 16 जून को प्रोपर्टी डीलर सुखपाल सिंह (42) पुत्र दर्शनसिंह कुम्हार निवासी मानकसर तहसील संगरिया ने मामला दर्ज कराया था। उसने पुलिस को रिपोर्ट दी थी कि कुछ दिन पहले एक महिला का फोन आया। उसने टाउन की आचार्य तुलसी विहार कॉलोनी के पास अपना भूखंड बताते हुए उसे बेचने की बात कही तथा भूखंड देखने के लिए बुलाया। वह 16 जून को भूखंड देखने गया। वहां मुख्य रोड पर दो महिलाएं मिली जो उसे कॉलोनी से आगे एक ढाणी ले गई। वहां पास ही अपना भूखंड होना बताया। ढाणी में अचानक तीन पुरुष आ गए व उससे मारपीट कर कमरे में बंद कर दिया। वहां मौजूद एक महिला के साथ उसकी मोबाइल फोन से आपत्तिजनक अवस्था की वीडियो बना ली। दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर 2 लाख रुपए मांगे। इस पर वह डर गया व एक लाख 50 हजार रुपए देने की हां कर दी। अपने जानकार गुरदीप सिंह पुत्र गुरबचन सिंह निवासी लीलांवाली को फोन मिलवा कर उससे डेढ़ लाख रुपए उन्हें देने की बात कहलवाई। फिर उनमें से दो जने गांव लीलांवाली गए व गुरदीप सिंह से डेढ़ लाख रुपए ले लिए। उसके बाद वह उसके पास वापस ढाणी में आए व मोबाइल फोन वापस दे दिया। उसे वहीं छोड़ कर चले गए। जाते समय धमकी दी कि यदि किसी को कुछ बताया तो वीडियो वायरल कर देंगे। दुराचार का झूठा मुकदमा दर्ज करवा कर फंसा देंगे।इस मामले मे भी पुलिस द्वारा गुलाब सिंह पुत्र भगवान सिंह निवासी मानकसर को पहले गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था। गौरतलब है कि राजस्थान में हनी ट्रैप के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। हनी ट्रैप के कई गिरोह राजस्थान में एक्टिव हैं।खासकर बॉर्डर क्षेत्र गंगानगर, हनुमानगढ़ मे यह गिरोह आम लोगों को अपना शिकार बनाने की कोशिश करते हैं। जिनसे सामरिक सुरक्षा संबंधी जानकारी ले लेते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack