ग्रामीण ओलिंपिक खेलों को लेकर भारी उत्साह, खिलाड़ी पूर्वाभ्यास में बहा रहे पसीना।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने और ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को खोज कर उन्हें तराशने के उद्देश्य से राज्य में पहली बार 29 अगस्त से आयोजित किए जा रहे राजीव गांधी ग्रामीण ओलिम्पिक खेलों को लेकर बेहद उत्साह का माहौल है। खेलों के प्रति बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक में एक नया क्रेज देखा जा रहा है। गांव-गांव में इन खेलों के लिए जोर-शोर से तैयारियां की जा रही हैं। खिलाड़ी निरंतर अभ्यास कर रहे और उन्हें बेसब्री से खेलों के इस महाकुंभ के उद्घाटन का इंतजार है। 
चित्तौड़गढ़ में कबड्डी का क्रेज।
चित्तौड़गढ जिले में राजीव गांधी ग्रामीण ओलिंपिक खेल में 11 पंचायत समितियों की 299 ग्राम पंचायतों के 1766 गांवों की 5046 टीमें भाग लेंगी। जिले में 65 हजार 19़4 लोगों ने इन खेलों में भाग लेने के लिए पंजीकरण करवाया है। खिलाड़ियों में कबड्डी को लेकर सबसे ज्यादा क्रेज देखा जा रहा है। जिले के 26 हजार 230 लोगों ने कबड्डी खेलने में रूचि दिखाई है। इसके बाद टेनिस बॉल क्रिकेट में 16 हजार 804, खो-खो में 11 हजार 357, वॉलीबॉल के लिए 6 हजार 667, हॉकी के लिए 2 हजार 351 और शूटिंग तथा वॉलीबॉल में 1 हजार 785 लोगों ने पंजीकरण करवाया है। सभी ग्राम पंचायतों में ग्रामीण ओलिंपिक के लिए पूर्वाभ्यास मैच शुरू हो चुके हैं, जिसमें लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। स्थानीय स्तर पर लोकगीतों, नुक्कड़ नाटक और चौपालों में ग्रामीण ओलिंपिक की बड़ी चर्चा है। जिला कलक्टर अरविंद कुमार पोसवाल ने कहा कि चित्तौड़गढ़ जिले में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। इन छुपी हुई प्रतिभाओं को सामने लाने में ग्रामीण ओलिंपिक खेल मील का पत्थर साबित होंगे। जिला कलक्टर ने ग्रामीण ओलिंपिक खेल के आयोजन एवं अन्य व्यवस्थाओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले सरपंच, पंचायत एवं पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी (पीईईओ) के लिए 21 हजार से 5100 रूपए तक के ईनाम की घोषणा की है। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं ग्रामीण ओलिंपिक के नोडल अधिकारी राकेश पुरोहित ने बताया कि ग्रामीण ओलिंपिक को लेकर चित्तौड़गढ़ जिले में गजब का उत्साह और उमंग देखी जा रही है। 
बाड़मेर में 7300 टीमें लेंगी हिस्सा, खेलेंगे 97 हजार खिलाड़ी।
बाड़मेर जिले में इस वृहद खेल महोत्सव में 7 हजार 300 टीमों के कुल 97 हजार खिलाड़ी भाग लेंगे। जिला कलेक्टर लोक बंधु ने बताया कि ग्रामीण ओलंपिक खेलों से संबंधित टीमों का गठन, मैदानों के चिन्हीकरण, खेल सामग्री की खरीद करने के साथ ही टीमों के प्रैक्टिस सेशन आरम्भ हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि बड़े स्तर पर ग्रामीण खेलों का आयोजन भाईचारे की भावना बढ़ाने का एक अवसर है। इस अवसर पर राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं एवं नीतियों का व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा। ग्रामीण ओलिंपिक खेलों के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। उन्होंने बताया कि खेलों के सफल आयोजन के लिए ग्राम पंचायत एवं खण्ड स्तर पर समितियों का गठन हो चुका है। ग्राम पंचायत स्तरीय प्रतियोगिताएं 29 अगस्त से एक सितम्बर तक होंगी। ग्राम पंचायत स्तर पर विजेता टीम खण्ड स्तर पर 12 सितम्बर से आयोजित प्रतियोगिताओं में भाग लेंगी। इसके पश्चात जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताएं 22 सितंबर से होंगी।
भरतपुर में 50 हजार से अधिक ने कराया पंजीयन।
भरतपुर जिले में राजीव गांधी राजस्थान ग्रामीण ओलिम्पिक खेलों में 50 हजार 800 से अधिक खिलाडियों द्वारा पंजीयन कराया गया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बताया कि इन खेलों के माध्यम से समाज में खेलों का वातावरण तैयार करने के साथ ही सामाजिक समरसता, भाईचारा एवं सौहार्द बढ़ाने का कार्य भी किया जायेगा। साथ ही जिले के प्रतिभावान खिलाड़ियों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का मौका भी मिलेगा। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि इन खेलों के लिये त्रिस्तरीय समितियों का गठन कर दिया गया है। 
जोधपुर जिले में खेलेंगी 3063 टीमें।
जोधपुर जिले में भी राजीव गांधी ग्रामीण ओलिंपिक खेलों को लेकर बड़ा उत्साह है। जिला परिषद्  के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अभिषेक सुराणा ने बताया कि ‘खेलेगा राजस्थान, जीतेगा राजस्थान‘ के ध्येय के साथ आयोजित इन खेलों में जोधपुर जिले की 3063 से अधिक टीमें भाग लेंगी। मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी बल्लूराम खीचड़ ने बताया कि इन प्रतियोगिताओं के लिए शिक्षा विभाग ने पंचायत स्तर पर शारीरिक शिक्षकों और निर्णायकों की ड्यूटी लगा दी है। जिला खेल अधिकारी प्रेम सिंह भाटी ने बताया कि प्रतियोगिता के लिए ग्राम स्तर पर खेल मैदानों का चयन कर लिया गया है, जहाँ खिलाडियों द्वारा प्रैक्टिस मैच खेले जा रहे हैं। 
दौसा जिले की 286 ग्राम पंचायतों में शुरू हुए प्रैक्टिस मैच।
दौसा जिले में करीब 60 हजार लोगों ने इन खेलों के लिए पंजीयन करवाया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर रामखिलाड़ी मीना ने बताया कि जिले की सभी ग्राम पंचायतों में खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले खिलाड़ी पूर्वाभ्यास कर रहे हैं। खेलों के आयोजन संबंधी सभी तैयारियां अंतिम चरण में हैं। ग्रामीण ओलंपिक खेलों से संबंधित टीमों का गठन, मैदानों के चिन्हीकरण, खेल सामग्री की खरीद एवं टीमों के प्रैक्टिस सेशन आदि का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। आयोजन को लेकर शिक्षा विभाग एवं जिला प्रशासन के अधिकारी भी नियमित रूप से निरीक्षण कर रहे हैं। जिला कलेक्टर रामखिलाडी मीना ने ग्राम पंचायत बोरोदा, खुरी कला एवं बापी में चल रहे पूर्व अभ्यास का निरीक्षण किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack