पूर्व कांग्रेस उप मुख्य सचेतक रतन देवासी पर शारिरिक संबध बनाने का दबाव बनाने का महिला ने लगाया आरोप।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
सिरोही के रानीवाड़ा से पूर्व विधायक और पिछली बार की कांग्रेस सरकार में उप मुख्य सचेतक रहे कांग्रेसी नेता रतन देवासी पर माउंट आबू में अपना पारिवारिक होटल चलाने वाली एक महिला ने गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मीडिया के सम्मुख महिला ने बताया कि माउंट आबू में अपनी राजनीतिक पहुंच का रौब दिखाकर रतन देवासी ने उसका जीना मुहाल कर दिया। असल में महिला मुंबई से अपने पारिवारिक होटल का संचालन करने 15 वर्ष पहले माउंट आबू आई थी। उसकी पारिवारिक होटल के पास ही रतन देवासी ने भी रेस्टोरेंट खोला था। तब रतन देवासी रानीवाड़ा से विधायक थे। पहली मुलाकात में वह काफी शालीनता से पेश आया। इसके बाद महिला को उसने अपने जाल में फंसाने के लिए कई हथकंडे़ अपनाए, महिला ने उसकी ‘डिमांड’ पूरी नहीं की तो परेशान करने लगा। माउंट आबू में होटल चलाने वाली 45 वर्षीय महिला ने एसपी सिरोही ममता गुप्ता को 2 दिन पहले ही पूर्व विधायक व उप मुख्य सचेतक रहे रतन देवासी के खिलाफ गंभीर आरोपों की शिकायत दी है। शिकायत में महिला ने आरोप लगाए हैं कि रतन देवासी अपनी राजनैतिक पहुंच के आधार पर उसकी सम्पत्ति को खुर्द बुर्द करने व उसको हथियाने के लिए भय दिखाता हैं और नाजायज शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालता आया है। महिला होटेलियर ने आगे बताया कि वह मूलत: मुंबई में पढ़ी लिखी सभ्रांत महिला है,उसकी शादी माउंट आबू में हुई थी । परिवार सहित शांति सदन माउण्ट आबू में रहती है और पति के साथ शांति होटल का कारोबार संभालती है। पीड़िता दिल्ली मुंबई में बैंकर रही है। वर्ष 2008 मे उनकी सास का निधन होने के बाद वे माउण्ट आबू आई व अपने पति के साथ अपने पारिवारिक होटल शांति को संभालने लगी थी। माउंट आबू में शांति होटल के पास में वंदे मातरम होटल और कनक डायनिंग रेस्टोरेंट चलाने वाले रतन देवासी से उसकी मुलाकात 2010-11 में हुई तब वह विधायक था। विधायक के प्रभाव में आकर महिला ने उनसे बातचीत करना और संपर्क रखना तो शुरू कर दिया लेकिन धीरे-धीरे वह परेशान करने लगा। पीड़ित महिला का शांति होटल जहां स्थित है माउंट आबू में उसके पड़ोस में ही रतन देवासी भी होटल वंदे मातरम और कनक रेस्टोरेंट चलाते हैं। दोनों प्रॉपर्टी अगल बगल में है ऐसे में बिजनेस बंद कराकर उसे माउंटआबू से या डरा- धमकाकर दबाव बनाने की साजिश है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack