देश में अगर महंगाई और बेरोजगारी के यही हालात रहे तो देश का हाल भी श्रीलंका जैसा होने वाला है-जीतू पटवारी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ आज मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। जयपुर में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपया प्रधानमंत्री की उम्र से भी बड़ा हो गया है और 80 के आसपास पहुंच गया है।जीतू पटवारी ने कहा कि सत्ता में आने से पहले बीजेपी ने विदेशों से काला धन लाने और हर साल दो करोड़ रोजगार देने के बड़े-बड़े वादे किए थे लेकिन एक भी वादा आज तक पूरा नहीं हुआ, स्विस बैंक में 2014 की तुलना में आज काला धन दोगुना हो गया है। काला धन लाने के लिए केंद्र सरकार की आज की ओर से आज तक कोई कदम नहीं उठाया गया।
45 साल में सबसे बड़ी बेरोजगारी।
 जीतू पटवारी ने कहा कि आज देश में 45 साल में सबसे बड़ी बेरोजगारी है। 42 फ़ीसदी लोगों के पास कोई रोजगार नहीं है। देश में आर्थिक हालात बिगड़ते जा रहे हैं और और जब आर्थिक हालत बिगड़ते हैं तो सरकार की इनकम ऑफ़ सोर्स कम हो जाती है। ऐसे में सरकार ने अपना खजाना भरने के लिए खाद्य पदार्थों पर ही जीएसटी लगा दिया। आटा-गेहूं, चावल जैसे खाद्य पदार्थों पर ही जीएसटी लगाकर अपना खजाना भरने का काम किया है। सरकार को सोचना चाहिए कि वो कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है बल्कि जनता द्वारा चुनी हुई सरकार है, जिसे जनता के हित के लिए काम करना है लेकिन केंद्र सरकार जनता के ही मुंह से निवाला छीनने का काम कर रही है।
किसानों की बजाए उद्योगपतियों के कर्ज माफ किए।
जीतू पटवारी ने कहा कि केंद्र सरकार ने उद्योगपतियों का 12 लाख करोड़ रुपए का ऋण माफ कर दिया, जबकि किसानों का ऋण माफ नहीं किया। आंदोलन करने वाले किसानों को झूठ बोल कर उनका आंदोलन खत्म करवाया गया और आज तक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कोई बात नहीं की गई। जब किसानों का ऋण माफ करने की बात कही जाती हो तो प्रधानमंत्री उसे रेवड़ी कल्चर कहना शुरू कर देते हैं। उन्होंने कहा कि देश में अगर महंगाई और बेरोजगारी के यही हालात रहे तो देश का हाल भी श्रीलंका जैसा होने वाला है।
चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा किया।
कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा कि चीन लगातार भारत की जमीन पर कब्जा कर रहा है लेकिन मोदी सरकार हमेशा से ही इनकार करती रही है अब तो मीडिया ने भी साफ कर दिया है कि चीन भारत की जमीन पर कब्जा कर रहा है लेकिन केंद्र सरकार की ओर से इस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, प्रधानमंत्री मोदी इस पर चुप्पी साधकर बैठे हैं।
अग्निपथ स्कीम देश हित में नहीं।
 कांग्रेस नेता कितने पटवारी ने कहा कि पिछले 2 साल से सेना में कोई भर्ती नहीं की गई है और अब अग्निपथ के नाम पर भर्ती की जा रही वो भी सिर्फ 4 साल के लिए, 17 साल का युवक जब आर्मी में भर्ती होगा और 21 साल की उम्र में रिटायर हो जाएगा तो वो हथियार चलाने में बिल्कुल ट्रेंड होगा और जब उसे कोई काम नहीं मिलेगा तो उसका आक्रोश कहां निकलेगा ही सभी को पता है, उस वक्त देश के क्या हालात होंगे। जीतू पटवारी ने कहा कि किसी विभाग में संविदा पर नियुक्ति निकाली जाती है और जब उन व्यक्तियों को निकाला जाता है तो वो लोग बड़े बड़े आंदोलन कर देते हैं ऐसे में अग्निपथ स्कीम से निकले युवक क्या हाल करेंगे इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती।
8 साल में सिद्ध नहीं कर पाए 2 जी और 4 जी स्पेक्ट्रम के आरोप।
 जीतू पटवारी ने कहा कि यूपीए सरकार के समय बीजेपी और अन्य लोग 2 जी और 4 जी स्पेक्ट्रम के आरोप लगाते रहे थे कि सरकार में बड़े भ्रष्टाचार हुए हैं लेकिन 8 साल के शासन के बावजूद भी मोदी सरकार 2जी और 4 जी स्पेक्ट्रम के आरोप सिद्ध नहीं कर पाए, इससे साफ जाहिर है कि उस वक्त सिर्फ एक प्रोपेगेंडा फैलाया गया था। पटवारी ने कहा कि आज भ्रष्टाचार के मामले बीजेपी के राज में सामने आ रहे हैं धीरे-धीरे केंद्र सरकार के भ्रष्टाचार की परतें खुल रही हैं लेकिन केंद्र सरकार उन पर जवाब देने के बजाए विपक्ष के नेताओं पर ही सीबीआई, ईडी और इनकम टैक्स के छापे डाल रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले 4 सितंबर को महंगाई के विरोध में दिल्ली में राष्ट्रव्यापी रैली के जरिए केन्द्र सरकार पर महंगाई कम करने का दबाव बनाएंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack