बारां में छात्र संघ चुनाव के परिणाम हुए घोषित दोनों कॉलेजों में एबीवीपी ने मारी बाजी।

बारां-हंसपाल यादव।
बारां जिले में संपन्न हुए छात्रसंघ चुनाव के परिणाम घोषित हो गए हैं। जिले के 9 कॉलेजों में 5 में एबीवीपी  3 में एनएसयूआई 1 कॉलेज में निर्दलीय प्रत्याशी ने अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है। बारां शहर के दोनों कॉलेज बॉयज व गर्ल्स कॉलेज मे एबीवीपी के प्रत्याशी विजय घोषित हुए हैं। पीजी कॉलेज से एबीवीपी के जुगल किशोर मीणा 11 वोटों से विजयी घोषित हुए हैं तो वही गर्ल्स कॉलेज से एबीवीपी की वैशाली वैष्णव 87 मत से विजयी घोषित हुई है । कॉलेज में चारों पैनल पर एबीवीपी ने जीत हासिल की है। उपाध्यक्ष पद पर भारती नागर सचिव रिया शर्मा संयुक्त सचिव पद पर कविता मीणा निर्वाचित हुई है। अंता में एबीवीपी के हिम्मत सिंह, मांगरोल में एबीवीपी के नितेश, अटरू महाविद्यालय से एनएसयूआई के मनीष गुर्जर, केलवाड़ा से एनएसयूआई के सिद्धार्थ, शाहाबाद महाविद्यालय से एनएसयूआई के बिरजू सहरिया, छबड़ा राजकीय महाविद्यालय से निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र मालव और छिपाबड़ोद के प्रेम सिह सिंघवी महाविद्यालय  से एबीवीपी के हेमंत मीणा को विजयी घोषित किया गया है ।  परिणाम की घोषणा के साथ ही छात्रों ने जमकर नारेबाजी की वही अपने प्रत्याशियों के साथ विजय जुलूस निकाला। छात्र चुनाव की मतगणना स्थल पर परिणाम आने तक छात्र जहां जमकर नारेबाजी करते रहे वहीं पुलिस और प्रशासन भी खासा अलर्ट रहा परिणाम की घोषणा के बाद पुलिस और प्रशासन ने भी राहत की सांस ली।
विद्यार्थी परिषद की जीत पर राजे व दुष्यंत ने दी बधाई।
जिले के मुख्यालय सहित अधिकांशत महाविद्यालयों में हुई विद्यार्थी परिषद के प्रत्याशियों की जीत पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे एवं बारां -झालावाड़ सांसद दुष्यंत सिंह आदि ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई प्रेषित की हैं। भाजपा मीडिया विभाग के जिला प्रमुख राजेंद्र शर्मा एवं शहर प्रवक्ता सचिव सनाढ्य ने बताया कि भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे एवं सांसद दुष्यंत सिंह ने महाविद्यालय के चुनाव के संदर्भ में जिलाध्यक्ष जगदीश मीणा सहित इत्यादि पदाधिकारियों से निरंतर संपर्क बनाया हुआ था । उन्होंने  जिले के विभिन्न कॉलेजों की परिस्थितियों बाबत जानकारी हासिल की थी। राजे एवं सिंह ने जिले के जिला मुख्यालय सहित पांच महाविद्यालयों में विद्यार्थी परिषद के प्रत्याशियों की जीत पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा है कि यहां से भविष्य की रणनीति और राजनीति तय होगी। उन्होंने कहा कि चुनाव में हार जीत चलती रहती है , पराजित हुए प्रत्याशियो से उन्होंने कहा कि उनका संघर्ष व्यर्थ नहीं है वह एक स्वाभिमानी संगठन के सदस्य हैं, यह कभी ना समझे की उनका सफर अधूरा रह गया है ,  आगामी भूमिका के लिए उन्हें अपने आप को और अधिक सुदृढ़ और कर्तव्यशील बनाने की तैयारियों में जुट जाना चाहिए ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack