सोशल मीडिया पर भाजपा मंडल अध्यक्ष को फेक पोस्ट शेयर करना पड़ा भारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार।

सपोटरा-विनोद कुमार जांगिड़।
करौली जिले के मंडरायल थाना क्षेत्र के रोधई गांव में बंदूक की नोक पर दो बालिकाओं से छेड़खानी की पोस्ट को शेयर कर सोशल मीडिया पर झुठी अपवाह फैलाने के मामले में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा सपोटरा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष प्रताप पाकड़ को मंडरायल थानाधिकारी बनवारी लाल मीणा के नेतृत्व में पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं। मंडरायल थानाधिकारी बनवारी लाल मीणा ने बताया कि प्रताप पाकड़ निवासी कोडियाई के खिलाफ बालकृष्ण स्वर्णकार पुत्र राधेश्याम सोनी निवासी बरगमा थाना सदर हिंडोन सिटी हाल कार्यरत कार्यवाहक प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रोधई थाना मंडरायल ने 7 जुलाई को मुकदमा नंबर 88/22 धारा 182, 500, 505(2), 468 IPC, 23 पोक्सो एक्ट, 67 IT एक्ट की संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया था।देर रात पुलिस द्वारा घर में घुसकर प्रताप पाकड़ की गिरफ्तारी का परिजनों ने विरोध किया था। ऐसे में पुलिस और परिजनों के बीच आपस में विरोधाभास की स्थिति पैदा हो गई।वही परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं परिजनों का कहना है कि रात दो बजे अचानक से मंडरायल थानाधिकारी बनवारी लाल मीना कुछ पुलिसकर्मियों और अज्ञात लोगों को लेकर घर में घुसकर मारपीट करने लगे तथा कमरे में सो रहे प्रताप पाकड़ को ले जाने लगे। जब उनसे कारण पूछा तो परिवार के सदस्यों के साथ मारपीट करते हुए महिलाओं से छेड़छाड़ करने लगे इसका विरोध किया तो महिलाओं की भी मारपीट करके जबरदस्ती व बलपूर्वक प्रताप पाकड़ को ले गए।इसके बाद चोटिल सदस्यों को परिजन सामुदायिक स्वास्थ केंद्र सपोटरा लेकर गए। जहां उनका उपचार करवाया गया। घटना का पता लगते ही भारतीय जनता पार्टी जिला जिलाध्यक्ष बृजलाल डिकोलिया भी घायलों की कुशलक्षेम जानने और घटना की जानकारी लेने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सपोटरा पहुंचे। पुलिस पर लगे गंभीर आरोपों को लेकर जब थानाधिकारी से बात की तो मंडरायल थानाधिकारी बनवारी लाल मीणा ने आरोपो को निराधार बताया। उन्होंने कहा कि घरवाले मुल्जिम को छुड़ा रहे थे। घरवालों ने गिरफ्तारी का विरोध किया था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack