खिलाड़ी के बयान के बाद सियासी उबाल, मंत्री आंजना ने खिलाड़ी पर सस्ती लोकप्रियता पाने लगाया आरोप।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान एससी आयोग के अध्यक्ष विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा नेए सचिन पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाने और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की बात कह कर एक बार फिर राजस्थान में राजनीतिक हलचल शुरू कर दी है। खिलाड़ी की मंशा इसमें कुछ भी रही हो, लेकिन राजस्थान के मंत्रियों को उनकी बात रास नहीं आ रही है। यही कारण है कि प्रदेश के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि सोनिया गांधी देश की अग्रिम पंक्ति के नेताओं में से एक हैं और अशोक गहलोत सबसे वरिष्ठ नेताओं में से। किसे अध्यक्ष बनाना है, यह निर्णय सभी बड़े नेता मिलकर आपस में कर लेंगे। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी लाल बैरवा की भले ही इस बात को बोलने में कोई भी मंशा रही हो, लेकिन यह बात उनके मन में आई थी तो वे बंद कमरे में कांग्रेस के नेताओं से यह बात करनी चाहिए थी, ना कि उन्हें इस तरह मीडिया में आकर किसी बात का प्रचार करने का काम करना चाहिए था।उदयलाल आंजना ने इसके आगे बोलते हुए कहा कि इस तरह से बोलकर खिलाड़ी लाल बैरवा कोई न कोई लोकप्रियता प्राप्त करने का प्रयास किया है, लेकिन यह पार्टी के हित में नहीं है। आंजना ने कहा कि खिलाड़ी को अगर कोई बात रखनी थी तो वह सचिन पायलट से अलग से बात कर लेते, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात कर लेते। यहां तक कि वह सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मिलकर भी अपनी बात रख सकते थे, लेकिन मीडिया में बोलकर इस तरह का माहौल बनाना पार्टी के हित में नहीं है। दरअसल उदयलाल आंजना प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर हुई जन सुनवाई में हिस्सा लेने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने एससी आयोग के अध्यक्ष खिलाड़ी लाल बैरवा पर लोकप्रियता पाने के लिए ऐसा बयान देने का आरोप लगाया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack