सीएम गहलोत बोले- चिरंजीवी योजना से मिल रहा वरिष्ठजनों को संबल, केन्द्र बढाए बुजुर्गों की पेंशन।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के वरिष्ठजनों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्धता व संवेदनशीलता के साथ फैसले ले रही है। मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से हमारे वरिष्ठजनों को संबल मिला है और बुढ़ापे में उनको बीमारी के खर्चे से चिंता मुक्त करने का कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नागरिक कल्याण बोर्ड का गठन करने के साथ ही वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत प्रदेश के हजारों वरिष्ठ नागरिकों को निःशुल्क तीर्थयात्रा करवाकर उनकी तीर्थयात्रा की मनोकामना को भी राज्य सरकार पूर्ण कर रही है। इसी तरह सदियों से चली आ रही भारत की महान संस्कृति, परंपरा एवं संस्कार के अनुरूप ही राज्य सरकार एक विश्वासपात्र सहारे के रूप में वृद्धजनों की सेवा कर रही है। गहलोत मानव सेवा संस्थान द्वारा आयोजित राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक सम्मान सामारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए पदाधिकारियों को मानव सेवा का संकल्प लेने हेतु साधुवाद दिया। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग होने पर व्यक्ति की समस्याएं अलग तरह की होती हैं, पारिवारिक, सामाजिक व स्वास्थ्य से जुड़ी होती हैं। बुढ़ापे में उन्हें एक विश्वासपात्र दोस्त, रिश्तेदार या सहारे की जरूरत होती है जो उनमें बेहतर तरीके से जिंदगी जीने का आत्मविश्वास जगाए। ऐसे संस्थान इस भूमिका को पूरी निष्ठा व सेवाभाव के साथ निभा रहे हैं। इस दौरान गहलोत ने मंच से उतरकर वरिष्ठजनों को शॉल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
बीमारी के खर्चे से चिंतामुक्त हुए वरिष्ठजन।
गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से हमारे वरिष्ठजनों को संबल मिला है और बुढ़ापे में बीमारी के खर्चे से चिंता मुक्त हुए हैं। योजना में 10 लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। आईपीडी, ओपीडी, जांचें भी निःशुल्क की गई है। ट्रांसप्लांट का पूरा खर्च भी सरकार द्वारा ही वहन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना में 5 लाख रूपये का बीमा भी किया गया है। प्रदेशवासियों को यह सुविधाएं देने में राजस्थान पूरे देश में अग्रणी राज्य बन गया है।
केन्द्र से किया पेंशन राशि बढ़ाने का निवेदन
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान एकमात्र ऐसा राज्य है जिसमें 1 करोड़ लोगों को पेंशन मिल रही है, उसमें अधिकांश बुजुर्ग हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से निवेदन किया है कि केन्द्र सरकार द्वारा दी जा रही सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि मंहगाई के अनुरूप बढ़ाई जाए जिससे देश के करोड़ों वरिष्ठ नागरिकों को संबल मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसा कानून बनाया गया है जिससे बच्चे अपने माता-पिता की सेवा करने के कर्तव्य से विमुख न हों। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि हमारे देश की संस्कृति श्रवण कुमार की संस्कृति रही है। समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्षा अर्चना शर्मा ने कहा कि राजस्थान में वरिष्ठजनों के लिए सर्वाधिक योजनाएं समर्पित हैं। इस अवसर पर राजस्थान समग्र संघ के अध्यक्ष सवाई सिंह, संस्थान के अध्यक्ष नाथूलाल वर्मा व बड़ी संख्या में वरिष्ठजन व उनके परिजन उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack