अब श्रीगंगानगर के शहरी क्षेत्रों में मिलेगी 100 दिन के रोजगार की गारंटी।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा।
श्रीगंगानगर, आपदा प्रबंधन एवं सहायता, प्रशासनिक सुधार और समन्वय, सांख्यिकी विभाग और नीति निर्धारण प्रकोष्ठ तथा श्रीगंगानगर जिला प्रभारी मंत्री गोविंद राम मेघवाल ने कहा है कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना से अब शहरी क्षेत्रों में भी 100 दिनों का रोजगार मिल सकेगा। वे नई धान मंडी परिसर के बाहर इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे। इस अवसर पर मंत्री ने महिलाओं को जॉब कार्ड वितरित करने के पश्चात पौधारोपण भी किया।कार्यक्रम में मंत्री मेघवाल ने कहा कि यूपीए सरकार के समय मनरेगा की शुरुआत की गई थी। जिसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। देश भर में बेरोजगारों को इससे रोजगार मिला है। इसी तर्ज पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शहरी क्षेत्रों में इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की शुरुआत की है।इसके तहत बेरोजगारों को आजीविका अर्जन की दृष्टि से प्रतिवर्ष 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि योजना के लिए राज्य सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 में 800 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान रखा है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के दौरान रोजगार छीनने से जो परिवार प्रभावित हुए, उन्हें इस योजना से संबल मिलेगा। मुख्यमंत्री गहलोत के कोरोना प्रबंधन, चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, गंगानगर में मेडिकल कॉलेज और नहरों के सुदृढ़ीकरण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा के बिना नीति नहीं, नीति के बिना गति नहीं और गति के बिना अर्थ नहीं मिलता। श्रीगंगानगर में बरसात प्रभावितों को जल्द मुआवजा देने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि अभिभावक अपने बच्चों को शिक्षित कर सफल बनाएं। इससे पूर्व विधायक  राजकुमार गौड़ ने योजना के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार ने योजना के माध्यम से प्रदेश की माताओं और बहनों को काम उपलब्ध करवाया है। इंदिरा गांधी के बाद अशोक गहलोत ने युवाओं, महिलाओं और आमजन के लिए सोचा है। जिस तरह से मनरेगा में करोड़ों लोगों को काम मिल रहा है, उसी तरह अब शहरी क्षेत्रों में रोजगार मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि हर हाथ को काम देने के साथ-साथ राज्य सरकार ने स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, बिजली, पानी सहित अन्य क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये हैं। चिरंजीवी योजना में 10 लाख रुपये बीमा के साथ 5 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा भी देय है। गत 3 वर्षों के दौरान श्रीगंगानगर विधानसभा में हुए विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने बताया कि आज योजना शुभारंभ के समय 3,033 को काम दिया गया है जबकि 10,186 का अब तक जिले में रजिस्ट्रेशन हुआ है।कार्यक्रम में नगर परिषद आयुक्त गुरदीप सिंह ने योजना की विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना में काम करने के बाद भुगतान सीधे श्रमिक के बैंक खाते में आएगा।इस अवसर पर जिला कलक्टर रुकमणी रियार सिहाग, कमला बिश्नोई, नगर विकास न्यास सचिव मुकेश बारेठ सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack