महापंचायत के बाद माली समाज ने 12% आरक्षण के लिए सीएम के नाम दिया ज्ञापन।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
12 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर सवाई माधोपुर में शुक्रवार को माली, काछी, शाक्य एंव मोर्य आरक्षण संघर्ष समिति के लोगों ने कलेक्ट्रेट के समक्ष जमकर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। सवाई माधोपुर में आज 12 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर माली, काछी, शाक्य एंव मोर्य आरक्षण संघर्ष समिति की महापंचायत आलनपुर स्थित एक मैरिज गार्डन में आयोजित हुई। इस दौरान आरक्षण को लेकर आगामी रणनीति को लेकर वक्ताओं ने अपने विचार रखे। इसके बाद आरक्षण संघर्ष समिति के लोग रैली के रूप में सिविल लाइन, मुख्य बाजार होते हुए अपनी मांगों को लेकर हाथों में तख्तियां लिए नारे लगाते कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां उन्होंने जोरदार प्रदर्शन कर 12 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने की पुरजोर मांग की। आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि राज्य में माली, काछी , शाक्य एंव मोर्य की जनसंख्या लगभग डेढ़ करोड़ है, जो प्रदेश की जनसंख्या का 12 प्रतिशत है। इसके बावजूद राजनैतिक, सामाजिक, शैक्षिक, आर्थिक स्थिति में उक्त समाज पिछड़ा हुआ है। समाज के अधिकांश लोग लघु कृषक व मजदूर हैं। इसके अलावा समाज के लोगों के पास कोई आय का अन्य स्रोत भी नहीं है। उक्त समाज के अधिकतर लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। समाज के लोगों की सरकारी सेवाओं में भागीदारी न के बराबर है। प्रदेश में प्रशासनिक सेवाओं में भी समाज का प्रतिनिधित्व नहीं है। ऐसे में माली ,काछी , शाक्य एंव मोर्य समाज के लोगों को प्रदेश में जनसंख्या के अनुपात में 12 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। ज्ञापन देने वालों में फुले आरक्षण संघर्ष समिति के कैलाश नारायण सैनी, मीरा सैनी, ललिता सैनी, मुरारी लाल, श्याम सुन्दर, सचिन सैनी, परसराम कुशवाह सहित सैकड़ों की संख्या में संघर्ष समिति के लोग व समाज के पदाधिकारी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack