दिल्ली में 14 नवंबर से होने वाले इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में दिखेगी राजस्थान की अलहदा छवि।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजसिको अध्यक्ष राजीव अरोड़ा ने कहा कि दिल्ली के प्रगति मैदान में आगामी 14 से 27 नवंबर को होने वाले 41वें इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2022 में राजस्थान की अलहदा छवि देखने को मिलेगी। मेले में पहली बार राज्य सरकार से सम्मानित और मशहूर दस्तकार व शिल्पकार अपने बेहतरीन उत्पाद प्रदर्शित करेंगे। अरोड़ा गुरुवार को उद्योग भवन में आयोजित एक बैठक में ट्रेड फेयर से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस वर्ष फेयर की थीम वोकल फॉर लोकलए लोकल टू ग्लोबल रखी गई है। सरकार की मंशा स्थानीय संस्थाओं को भरपूर काम देने के साथ उनके उत्पादों को वैश्विक पहचान दिलाना है। उन्होंने मेले को भव्य व आकर्षक लुक देने के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। राजसिको अध्यक्ष ने कहा कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन पर हर वर्ष लगने वाला यह मेला इस बार राजस्थान की कला और संस्कृति को एक अलहदा अंदाज में दिखाएगा। उन्होंने अधिकारियों को हस्तशिल्प और हथकरघा उत्पादों के लाइव डेमो दिखाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राजस्थान पवेलियन की डिजाइन प्रदेश की किसी विरासत जैसे हवा महल जैसलमेर या शेखावाटी की हवेलियों की तर्ज पर रखी जा सकती है। उद्योग आयुक्त महेंद्र कुमार पारख ने कहा कि मेले में देशभर के लोग राजस्थान की कला एवं संस्कृति को महसूस करने आते हैं। ऐसे में इस बार ब्लू पॉटरी, टेक्सटाइल, पेंटिंग और लेदर सेक्टर के उत्पादों को ज्यादा जगह दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मीनाकारी, पॉटरी, पिचरी के ख्यातनाम दस्तकार अपने अपने उत्पादों को यहां प्रदर्शित करेंगे।बैठक में अंतरराष्ट्रीय स्तर के प्रतिभागियों के चयन, डिस्प्ले, बिजनेस इनफॉरमेशन सेंटर बनाने, राजस्थान पवेलियन के निर्माण व अन्य व्यवस्थाए डिस्प्ले कम सेल स्पेस के निर्माण, सांस्कृतिक संध्या व कार्यक्रम के प्रचार प्रसार जैसे विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई।बैठक में राजसिको की प्रबंध निदेशक मनीषा अरोड़ा, रूड़ा की प्रबंध निदेशक नलिनी कठोतिया, सूचना एवं जनसंपर्क के अतिरिक्त निदेशक अरूण जोशी सहित पर्यटन, महिला अधिकारिता, राजस्थान वित्त निगम, खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग, रिको, राजसिको के अधिकारी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack