वक्फ बाेर्ड की संपत्तियों के डवलपमेंट के लिए 150 नई कमेटियां संभालेंगी जिम्मेदारी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राज्य वक्फ बाेर्ड की बैठक में बड़े फैसले लिए गए। वक्फ संपत्तियों के देखरेख और डवलपमेंट के लिए प्रदेशभर में 150 नई कमेटियाें गठित बनाई गई है। इसमें अकेले जयपुर में करीब 50 वक्फ कमेटियाें काे भी बदल दिया। बाेर्ड बैठक में सबसे बड़ा फैसला जाैहरी बाजार स्थित जामा मस्जिद कमेटी काे लेकर हुआ, इस कमेटी के सदर सहित 15 सदस्याें काे बदल दिया। जामा मस्जिद सदर नईम कुरैशी काे हटाकर शब्बीर कुरैशी काे नया सदर नियुक्त किया है। बाेर्ड बैठक में दूसरा सबसे बड़ा फैसला एमडी राेड स्थित मुसाफिर खाने काे लेकर हुआ।मुसाफिर खाना कमेटी काे ताैलियत यानि आजीवन सदस्यता का फैसला किया हुआ था, जबकि वक्फ एक्ट में कहीं भी किसी भी कमेटी काे ताैलियत करने का नियम ही नहीं है। मुसाफिर खाने में सालाें से एक ही कमेटी बनी हुई थी और इसे बदलने की मांग उठ रही थी। गुरूवार काे बाेर्ड बैठक के दाैरान मुस्लिम परिषद के संस्थापक यूनुस चाैपदार, मुस्लिम प्राेग्रेसिव फैडरेशन के कन्वीनर अब्दुल सलाम जाैहर सहित दर्जनाें लाेगाें ने बाेर्ड ऑफिस पहुंचकर विराेध जताया और मुसाफिर खाना कमेटी खत्म करने की मांग काे लेकर बाेर्ड सदस्याें से मुलाकात की। इसके बाद मुसाफिर खाना कमेटी की जांच करने का फैसला हुआ। हिसाब-किताब की रिपाेर्ट बनवाई जाएगी। सांगानेर, सांभर, फुलेरा, झाेटवाड़ा, घाटगेट, इमामबाड़ा सहित करीब 50 कमेटियाें में सदर, सेक्रेटरी सहित नए सदस्य बनाए गए। बैठक में चेयरमैन डाॅ. खानु खान बुधवाली, सदस्य विधायक रफीक खान, अश्कअली टांक, सैय्यद शाहिद हसन, शब्बीर अहमद शेख, असलम शेर खान, राना जैदी, माेहम्मद युसुफ सहित सुन्नी आलिम सदस्य रेशमा उपस्थित रही।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack