थाने में युवक द्वारा आग लगाने के मामले में कांग्रेस पार्षद समेत 3 गिरफ्तार।

कोटा-हंसपाल यादव।
कोटा नयापुरा थाने में खुद को आग लगाने वाले राधेश्याम के 5 सितंबर के परिवाद पर पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी कांग्रेस पार्षद हरिओम सुमन, उसके साथी हितेश शर्मा व अमित खिल्लीवाल को कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट ने तीनों आरोपियों को 30 सितंबर तक न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिए। डीएसपी कालूराम ने बताया कि फरियादी राधेश्याम के परिवाद पर अनुसंधान के बाद पार्षद हरिओम सुमन व हितेश के खिलाफ धारा 354,341,323,34 व एससी/एसटी एक्ट में मामला दर्ज किया है। जबकि अमित खिल्लीवाल के खिलाफ धारा 354, 341, 323, 34 में मामला दर्ज किया है। तीनों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उन्हें जेल भेजने के आदेश दिए।
महिलाओं ने कांग्रेस पार्षद की गिरफ्तारी को लेकर किया प्रदर्शन।
इससे पहले पार्षद की गिरफ्तारी की सूचना पर वार्ड की महिलाएं व कांग्रेस के कुछ पार्षदों ने निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। कांग्रेस पार्षद श्याम मीणा, यूनिस अली व लेखराज की अगुवाई में वार्ड की महिलाएं व समर्थक इकठ्ठे होकर एसपी ऑफिस कार्यालय के बाहर पहुंचे। और कार्यालय के बाहर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। समर्थकों को कहना था कि हरिओम सुमन बेगुनाह है। इस मामले में राजनैतिक दबाव में कार्रवाई नहीं होनी चाहिए।
परिवाद में मारपीट के लगाए थे आरोप
राधेश्याम ने पुलिस को दिए परिवाद में कांग्रेस पार्षद हरिओम सुमन उसके साथी हितेश शर्मा, अमित पर घर में घुसकर मारपीट करने, जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने, पत्नी के बत्तमीजी करने व मारने की धमकी देने के आरोप लगाए थे।
ये था मामला।
घायल राधेश्याम की बेटी 9 वीं कक्षा में पढ़ती है। उसने स्कॉलरशिप का फॉर्म भरा था। जिसमें डाक्यूमेंट्स लगाने थे। डाक्यूमेंट्स ले जाने के बाद भी स्कूल वाले जमा नहीं कर रहे थे। क्योंकि उसके पास आठवीं की मार्कशीट नहीं थी। इसी सिलसिले में बात करने राधेश्याम स्कूल गया था। राधेश्याम जाकर कहा था कि अभी आठवीं की मार्कशीट नहीं आई है। रोल नम्बर बता दें ऑनलाइन निकलवा लूंगा। इसी बात को लेकर टीचर व राधेश्याम के बीच थोड़ी बहस हुई थी। हालांकि की कुछ देर बाद आपसी सहमति से मामला शांत हो गया था। जिसके बाद राधेश्याम ने वार्ड के व्हाट्सएप ग्रुप पर कमेंट डाला। ओर स्थानीय पार्षद हरिओम सुमन के बारें में कमेंट पोस्ट किया था। इसके बाद विवाद बड़ा। दोनों के बीच झगड़ा हुआ। मामला थाने तक पहुंचा। शिकायत पर कोई सुनवाई नहीं होने से राधेश्याम तनाव में आ गया। उसने गुरुवार रात 8 बजे थाने में जाकर खुद पर पेट्रोल छिडक़ लिया। और आग लगा ली। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने आग बुझाई ओर उसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। जहां से उसे जयपुर रैफर किया गया। उसका उपचार जारी हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack