राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 40 बीमारीयों का समय पर पहचान कर किया उपचार।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में संचालित राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 40  बीमारियों का समय पर पहचान कर उपचार किया जा रहा है। इसके बारे में जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रामकेश गुर्जर ने बताया कि जिले में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत कुल 20 टीमें लगातार काम कर रही है जो कि प्रतिदिन आंगनबाड़ीयों, राजकीय विद्यालयों, मदरसा में जाकर वहां अध्ययनरत छात्र छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। इस दौरान गंभीर बीमारियों से ग्रसित छात्र छात्राओं को उच्च शिक्षण संस्थानो, सीएससी,  जिला चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज स्तर पर भेज कर उनका उपचार करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले में इस कार्यक्रम के अंतर्गत 65740 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया है जिसमें से 3307 बच्चों को उच्च चिकित्सा संस्थानों पर चिकित्सा के लिए रेफर किया गया है। जिनमें से 2687 बच्चों का उपचार करवाया गया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2022-  23 मे 33 बच्चों की विभिन्न बीमारियों के अंतर्गत सर्जरी करवाई गई है। जिनमें कोकलियर  इमलान्ट के एक , हृदय रोग से पीड़ित नौ, कटे हुए होंठ एवं तालु के 17 , मुडे हुए पांव के दो, बच्चों का निशुल्क ऑपरेशन विभिन्न चिकित्सालय में करवाया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack