भाजपा नेत्री को ज्ञानवापी को लेकर की पोस्ट के कारण सिर कलम कर 56 टुकड़े करने की मिली धमकी।

अलवर ब्यूरो रिपोर्ट।
अलवर जिले की भाजपा नेता चारुल अग्रवाल को ज्ञानवापी को लेकर सोशल मीडिया पर कमेंट करना भारी पड़ गया है। चारुल को अपनी सोसाइटी के लिफ्ट के पास धमकी भरा पत्र मिला है। इसमें धमकी देने वाले ने चारुल का सिर कलम कर 56 टुकड़े करने की धमकी दी है। इस पर भाजपा नेता ने मामले की सूचना पुलिस को दी है। पुलिस ने मामले की जांच कर रही है। चारुल ने बताया कि उन्होंने B.SC. संभल (UP) और M.SC मुरादाबाद से किया है। उसके बाद IIT दिल्ली से M.Tech. किया है। अभी वह अलवर के शालीमार आवास योजना एक्सटेंशन में टावर नंबर 3 में रहती हैं। सोमवार सुबह 7.45 बजे जब वो बच्चों को स्कूल छोड़ने के लिए फ्लैट के बाहर निकलीं तो लिफ्ट के पास लिफाफे में एक पत्र मिला है। पत्र में उनको जान से मारने की धमकी देते हुए कहा गया है कि 25 सितंबर आखिरी तारीख है। पत्र में यह भी लिखा था कि ज्ञानवापी हमारा है, हमारी ही रहेगा। हमारे मजहब को लेकर पोस्ट लिखोगी तो वही हाल होगा जो उदयपुर में कन्हैयालाल का हुआ था। ध्यान रख, गुस्ताख ए रसूल की एक सजा, सर तन से जुदा। इसके साथ ही लिखा था कि तुम्हारे 56 टुकड़े कर दिए जाएंगे। चारुल अग्रवाल ने कहा कि उसने ज्ञानवापी को लेकर सामान्य पोस्ट डाला था। चारुल ने बताया कि 13 सितम्बर को फेसबुक पर ज्ञानवापी को लेकर उसने एक पोस्ट डाला था। इसके बाद 19 सितंबर को उन्हें जान से मारने की धमकी मिली और 25 सितंबर को उनकी आखिरी तारीख भी बताई गई है। इस पर चारुल के पति जितेंद्र ने मामले की सूचना 100 नंबर पर दी। कुछ देर में पुलिस मौके पर पहुंची और पूछताछ कर जांच शुरू की। इस संबंध में सोसाइटी में भी लोगों से पूछताछ की गई है। वहीं चारुल और उसके परिवार ने पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा की गुहार की है। इस पत्र के मिलने के बाद परिवार खासा डरा हुआ है। उनकी मांग है कि उन्हें पुलिस सुरक्षा मिलनी चाहिए। धमकी मिलने के बाद बीजेपी के स्थानीय नेता भी चारुल के घर पहुंचे और जानकारी ली। चारुल के पति जितेंद्र का मत्स्य उद्योग में कारोबार है और वह एक औद्योगिक इकाई चलाते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack