इंस्पायर अवार्डः 65 बाल वैज्ञानिकों को मंत्री कल्ला ने दिल्ली किया रवाना।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी कल्ला ने राज्य के 65 बाल वैज्ञानिकों को इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत  14 एवं 15 सितम्बर को नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित नौंवी राष्ट्रीय स्तरीय प्रदर्शनी एवं प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए रवाना होने से पहले शुभकामनाएं दीं। शिक्षा संकुल जयपुर मेें आयोजित लघु अवधि के कार्यक्रम में उन्होनें इन बाल वैज्ञानिकों को ले जाने वाले टीम के दल नायक एडीओ योगेन्द्र मुद्गल को तिलक लगाकर समस्त टीम के लिए शुभकामनाएं दी। डॉ. कल्ला ने इन बाल वैज्ञानिकों को प्रदर्शनी व प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने, प्रदेश व देश का नाम रोशन करने के लिए आर्शीवचन कहे। उन्होने चयनित बच्चों को आइंस्टीन सहित महान वैज्ञानिकों के बारे में अध्ययन करने के लिए भी कहा।भारत सरकार की इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत इस प्रतियोगिता का आयोजन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, नई दिल्ली एवं नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन, गांधीनगर,  गुजरात द्वारा किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में 13 सितंम्बर को विद्यार्थियों के रजिस्ट्रेशन होंगे, 14 एवं 15 को प्रदर्शनी रहेगी तथा 16 सितंम्बर को अवार्ड फंक्शन, विज्ञान भवन नई दिल्ली में आयोजित होगा। प्रतियोगिता में ये बाल वैज्ञानिक अपने मॉडल या प्रोजेक्ट या प्रोटोेटाइप का प्रदर्शन करेंगें। इंस्पायर अवार्ड मानक योजना पूर्व राष्ट्रपति एवं वैज्ञानिक डा. एपीजे अब्दुल कलाम की प्रेरणा से भारत सरकार द्वारा 2009-10 से प्रारंभ की गई थी। इसका उद्देश्य कक्षा 6 से 10 तक के स्कूली विद्यार्थियों की सृजनात्मक एवं नवाचारी सोच को विकसित करना है। इसमें प्रत्येक विद्यालय से अधिकतम 5 विद्यार्थियों के इनोवेटिव आइडिया का चयन कर मॉडल या प्रोजेक्ट बनाने के लिए दस हजार रूपये दिऐ जाते हैं। तदोपरांत क्रमशः जिला स्तर, राज्य स्तर पर चयन होता है। राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में चयनित टॉप 60 विद्यार्थियों को नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन द्वारा आयोजित फेस्टीवल ऑफ इनोवेशन एंड एन्टरप्रेन्योरशिप में भाग लेने का मौका दिया जाता है, जहां राष्ट्रपति द्वारा इन्हे सम्मानित किया जाता है। राजस्थान से इस योजना के अन्तर्गत 2020-21 में कुल 150240 ऑनलाइन नॉमिनेशन हुए थे,  जो कि देश में सर्वाधिक थे। इन में से 8027 विद्यार्थियों का चयन हुआ, इसमें भी राजस्थान देश में प्रथम स्थान पर था। इनमें से राज्य स्तर पर 624 विद्यार्थियों का फिर राष्ट्रीय स्तर पर भाग लेने के लिए 62 विद्यार्थियों का अंतिम रूप से चयन हुआ। अब यही 62 एवं आठवीं राष्ट्रीय स्तरीय प्रदर्शनी-प्रतियोगिता में चयनित 3 विद्यार्थी कुल 65 बाल वैज्ञानिक नौंवी राष्ट्रीय स्तरीय प्रदर्शनी एवं प्रतियोगिता में भाग लेने जा रहे है। कार्यक्रम में राज्य परियोजना निदेशक डॉ मोहन लाल यादव ने भी प्रतिभागी विद्यार्थियों की सफलता की मंगल कामना की एवं विद्यार्थियों के साथ जाने वाले शिक्षकों, अधिकारियों को विशेष सावधानी बरतने एवं सुविधाओं का ध्यान रखने की हिदायत दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack