मंत्री अशोक चांदना पर जूते फेंकने आरोपियों के बचाव में उतरे विजय बैंसला, ACS HOME से FIR रद्द करने की मांग।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पुष्कर में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अस्थि विसर्जन के दौरान मंत्री अशोक चांदना पर जूता चप्पल फेंके गये। जिन युवाओं ने हुड़दंग की उनको पुलिस ने नामजद कर मुकदमा दर्ज कर लिया है। नामजद आरोपियों के खिलाफ दर्ज FIR को रद्द करने की मांग को लेकर गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष विजय बैंसला ने गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अभय कुमार से मुलाकात की। अध्यक्ष विजय बैंसला ने कहा कि किसी की गलती की सजा किसी अन्य को नहीं मिलनी चाहिए। कर्नल बैंसला की अस्थि विसर्जन के दौरान जिन युवाओं ने हुड़दंग की वह किसी के बहकावे में आ गए थे, लेकिन उनका अपना भविष्य वह नौकरी की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में इन युवाओं पर अगर मुकदमा दर्ज हो जाता है तो उनका भविष्य खराब हो सकता है। बैंसला ने कहा कि किसी की गलती से किसी का करियर खराब नहीं हो, इसलिए गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अभय कुमार से मुलाकात करके उनसे इन युवाओं पर दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कई बार युवा आवेश में आ जाते हैं, लेकिन हम नहीं चाहते कि उनका भविष्य खराब हो। विजय बैंसला ने कहा कि युवाओं ने किसके बहकावे में आकर जूता फेंका यह तो वही बता सकते हैं या फिर जिन्होंने उन्हें बहकाया है। लेकिन हमारा उद्देश्य सिर्फ यह है कि बच्चों का भविष्य खराब नहीं हो। कई बार युवा आवेश में आ जाते हैं। हम लोग सामाजिक तौर पर बच्चों का फ्यूचर कैसे अच्छा हो सकता है, उसकी लड़ाई लड़ रहे हैं। किसने किसके पर क्या फेंका, हम उस पर नहीं जाना चाहते हैं और हम तो शायद यही कहेंगे कि कुछ लोग उकसा देते हैं। लेकिन युवाओं को इसका ध्यान रखना चाहिए। किसी के कहने पर आवेश में नहीं आए। बैंसला ने कहा कि मुझे पता नहीं किसने किसके कहने पर जूता फेंका में ज्यादा समझता नहीं, लेकिन मैं इतना जानता हूं कि कोई भी समझदार व्यक्ति अपने भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं करेगा। आवेश में ऐसा हो जाता है। ऐसे में हमें देखना है कि उनका फ्यूचर खराब नहीं हों। विजय बैंसला ने कहा कि अभी भी गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के साथ हुए समझौते में कई मांगें हैं, जिनको नियमित करने के लिए अभी भी वार्ता करनी है। कई जगह पर दिक्कतें आ रही है, जिसको लेकर जल्द ही सरकार के प्रतिनिधियों के साथ में बैठक करेंगे। जिसमें ब्लॉग, देवनारायण योजना की छात्रवृत्ति सहित अन्य मामले हैं। स्कॉलरशिप काफी दिनों से नहीं मिल रही है। इसको लेकर भी चर्चा करनी है। स्कूल में टीचर नहीं है, इलेक्ट्रिसिटी नहीं है इसको लेकर भी चर्चा करनी है। इन सभी बिंदुओं को लेकर जल्द ही बैठक होगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack