प्रदेश का औद्योगिक विकास सरकार का मुख्य ध्येय,युवाओं के योगदान से मिलेगी प्रदेश के औद्योगीकरण को गति-सीएम गहलोत।

जोधपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि युवाओं के योगदान से ही समाज और राष्ट्र का उत्थान संभव है। उन्होंने कहा कि हमें सामाजिक मतभेद भुलाकर राष्ट्रहित व राष्ट्रीय उन्नति के लिए कार्य करना चाहिए। राज्य सरकार की नीतियों से प्रदेश में बड़े उद्योगों की स्थापना के साथ-साथ छोटे उद्योगों को भी प्रोत्साहन मिल रहा है। गहलोत रविवार को जोधपुर में जैन इन्टरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन के नेशनल यूथ कॉन्क्लेव समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समाज के वंचित वर्गों की देखभाल, हिंसामुक्त समाज, रोगमुक्त मानवता के लक्ष्य को लेकर ‘जैन इंटरनेशलन ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन’ (जीतो) एनजीओ उत्कृष्ट कार्य कर रहा है। 
गहलोत ने युवा सम्मेलन में उपस्थित सभी युवाओं से अपनी ऊर्जा को देशप्रेम, सोहार्द्र एवं सद्भावना के साथ देश के समग्र विकास के प्रति समर्पित करने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में नवीन उद्योगां की स्थापना एवं औद्योगिक क्षेत्र के विकास की दिशा में प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है। सरकार की नीतियों से प्रदेश में उद्योग एवं उद्यमिता को प्रोत्साहन मिल रहा है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि राज्य सरकार गहलोत के नेतृत्व में उद्योगों के विकास के लिए लगातार अहम निर्णय ले रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के फैसलों के परिणामस्वरूप प्रदेश में निवेश लगातार बढ़ रहा है तथा प्रदेश के औद्योगिक विकास को गति मिली है।पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि युवाओं की उद्यमिता को प्रोत्साहन देते हुए लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रम के माध्यम से अधिकाधिक रोजगार उत्पन्न करने का कार्य राज्य सरकार कर रही है।समारोह में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत, राजस्थान पशुधन विकास बोर्ड के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह सोलंकी, राजस्थान राज्य क्रीडा परिषद की अध्यक्ष कृष्ण पूनिया, राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्षा संगीता बेनीवाल, शहर विधायक मनीषा पंवार, महापौर कुंती देवड़ा, जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन के पदाधिकारी, उद्योगपति एवं समाजसेवी उपस्थित रहे

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack