सीएम गहलोत ने संकटकाल में विधायक दानिश अबरार की भूमिका के लिए की तारीफ, खिलाड़ियों को किया प्रोत्साहित।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सवाई माधोपुर पहुँचे। जहाँ उन्होंने पुलिस लाईन मैदान पर आयोजित ब्लॉक स्तरीय ग्रामीण ओलंपिक खेल प्रतियोगिताओं के समापन समारोह में शिरकत की । सीएम अशोक गहलोत निर्धारित समय से करीब पौने दो घंटे की देरी से हेलीकाप्टर से सवाई माधोपुर पहुंचे। जहाँ सीएम अशोक गहलोत का हेलीकाप्टर चकचेनपुरा हवाई पट्टी पर उतरे और फिर कार से कार्यक्रम स्थल पहुंचे। सीएम के पहुंचने पर विधायक दानिश अबरार ,अशोक बैरवा,इंदिरा मीणा व रामकेश मीणा ने सीएम का स्वागत किया । पुलिस लाइन मैदान पर आयोजित समारोह के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जनसभा को संबोधित करते हुए सूबे की काँग्रेस सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हुए अपनी सरकार के विकास कार्य गिनवाये। 
अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सवाई माधोपुर विधायक दानिश अबरार की तारीफ करते हुए कहा कि दानिश अबरार नही होता तो आज वे प्रदेश के मुख्यमंत्री नही होते। उनकी जगह कोई और मुख्यमंत्री होता।सीएम ने कहा कि दानिश अबरार ने समय रहते सारे घटनाक्रम की जानकारी उनतक पहुंचाई तब जाकर उनकी सरकार बची है । अपने संबोधन के दौरान गहलोत ने केंद्र सरकार पर भी जनकर निशाना साधा। गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री देश मे लगातार विपक्षी दलों की सरकारें गिरा रहे है। गहलोत ने कहा कि भाजपा विधायकों की खरीद फरोख्त कर देश मे लोकतंत्र को कमजोर करने का काम कर रही है। जो किसी भी सूरत में सही नही है। इस दौरान गहलोत ने कहा कि आज देश मे अराजकता बढ़ती जा रही है लेकिन प्रधानमंत्री देश की आमजनता को संबोधित कर शांति की अपील तक नही कर रहे। जबकि कोरोना काल मे आये दिन प्रधानमंत्री देश को सम्बोधित कर कभी झालर तो कभी घण्टी तो कभी थाली बाजवा रहे थे। लेकिन जब देश मे अराजकता फैल रही है तो प्रधानमंत्री खामोश है । अपने संबोधन के दौरान गहलोत ने इआरसीपी योजना को लेकर भी केंद्र सरकार पर तंज कसे ,बड़ी बात ये रही कि गहलोत ने अपनी विभिन्न योजनाओं का जमकर बखान किया। लेकिन राजस्थान में इस समय गौवंश में चल रहे लम्पी वायरस को लेकर एक शब्द तक नही बोला । कार्यक्रम के दौरान एक रोचक नजारा भी देखने को मिला। कायर्क्रम स्थल पर विधायक दानिश अबरार के अलावा जिले के अन्य किसी भी विधायक की फ़ोटो नजर नही आई और नाही किसी विधायक का सम्मान किया गया। जिसे लेकर खंडार विधायक नाराज हो गए और मुख्यमंत्री के सामने ही मंच छोड़कर चल दिये। जिस पर जिला प्रभारी मंत्री भजन लाल जाटव अशोक बैरवा के पास गए और उन्हें समझा कर वापस मंच पर लेकर आये।कार्यक्रम के दौरान गहलोत ने कबड्डी का मैच देखा और खिलाड़ियों से मुलाकात की। कबड्डी के मैच के दौरान बामनवास विधायक इंदिरा मीणा ने खिलाड़ियों के साथ कबड्डी खेली तो गहलोत ने विसिल बजाई। कार्यक्रम के दौरान काँग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भी जन सभा को संबोधित किया । कार्यक्रम के दौरान जिले के चारो विधायको सहित तमाम कांग्रेसी जन एंव बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता एंव पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack