राज-काज न्यूज की खबर का हुआ असर, शफाखाने में आने-जाने की राह होगी आसान।

सपोटरा-विनोद कुमार जांगिड़।
राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सपोटरा के मुख्य रास्ता में शहर का गंदा दूषित पानी भर जाने और रास्ता में गहरे गड्ढे के कारण तालाब बना मुख्य रास्ता से आखिरकार प्रशासन और जिम्मेदार अधिकारियों ने पानी निकासी का कार्य शुरू कर दिया है। जिसके कारण अस्पताल में इलाज करवाने आने वाले मरीजों और राहगीरों को राहत मिल सकेगी। वहीं पानी निकासी का कार्य शुरू होने के बाद सपोटरा शहरवासी राज-काज न्यूज़ की खबर का बड़ा असर बता रहे हैं। 
आपको बता दें, कि पिछले कई दिनों से नासूर बनी समस्या को राज-काज न्यूज़ ने शफाखाने का मुख्य रास्ता बना तालाब,जिम्मेदार बने लापरवाह शीर्षक से प्रकाशित किया था। खबर प्रकाशित होने के बाद उपखंड अधिकारी अनुज भारद्वाज ने आमजन को तुरंत समस्या से निजात दिलाने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारी को आदेशित किया। वही नगर पालिका अधिशासी अधिकारी शंभूलाल मीणा ने तुरंत प्रभाव से नगरपालिका कार्मिकों को सरकारी अस्पताल सपोटरा के मुख्य रास्ते से पानी निकासी के आदेश फरमाए और सपोटरा शहर का गंदा दूषित पानी को पीडब्ल्यूडी विभागीय कर्मचारियों द्वारा अस्पताल के मुख्य रास्ते में छोड़ने पर पानी को रास्ते में जाने से रोकने के लिए पीडब्ल्यूडी एईएन और जेईएन को दूरभाष पर बताया तथा आगामी भविष्य में शहर के पानी निकासी के लिए नगर पालिका सपोटरा के साथ सामंजस बिठाकर कार्य करने पर चर्चा की तथा सरकारी अस्पताल का तालाब बना हुआ रास्ते से पानी निकासी के लिए जेसीबी की सहायता से वैकल्पिक तौर पर कच्ची नाली बनवा कर पानी निकासी का कार्य शुरू करवाया। अधिशासी अधिकारी शंभूलाल मीणा ने कहा कि सरकारी अस्पताल के मुख्य रास्ते में शहर का गंदा दूषित पानी पीडब्ल्यूडी कार्मिक और नाली निर्माण के ठेकेदार द्वारा छोड़ा गया था जिसको जेसीबी की सहायता से निकलवाया गया है। वही सरकारी अस्पताल के मुख्य रास्ते में हाई कोर्ट का स्टे होने के कारण सीसी रोड का निर्माण नहीं करवाया जा सकता। लेकिन आमजन को राहत देने के लिए पानी निकासी का कार्य शुरू करवा दिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack