पुलिस कस्टडी से भागे प्रेमी ने प्रेमिका के घर के सामने दी जान।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
इश्क का जुनून ऐसा की जिस युवक ने युवती के साथ पूरी जिंदगी भर रहने का फैसला किया । वही युवती उसकी मौत का कारण बन गई । इश्क की इंतहा भी ऐसी दिखाई दी की प्रेमी युवक ने प्रेमिका के ससुराल के घर के सामने ही पेड़ से फांसी का फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। सवाई माधोपुर से पढिये संवाददाता हेमेंद्र शर्मा की यह खास रिपोर्ट रिपोर्ट। दरअसल सवाई माधोपुर जिले के श्यामपुरा निवासी मनराज मीणा का श्यामपुरा की ही एक युवती से पिछले चार-पांच साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। लेकिन इसी दरमियान लगभग एक वर्ष पूर्व युवती की शादी रवांजना डूंगर थाना क्षेत्र के विस्थापित हिंदवाड गांव में हो गई । लेकिन प्रेमी व प्रेमिका का प्रेम फिर भी परवान पर रहा और मिलने जुलने का सिलसिला लगातार जारी रहा। इसी बीच प्रेमिका के ससुराल पक्ष को दोनों के प्रेम प्रसंग की भनक लग गई तथा ससुराल पक्ष ने युवती के साथ रवांजना डूंगर थाने पर पहुंचकर आरोपी युवक के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा दिया। सात दिवस पूर्व दर्ज करवाए गए मुकदमे के पश्चात पुलिस ने कार्यवाही करते हुए दो दिवस पूर्व आरोपी मनराज मीणा को धर दबोचा और अपनी हिरासत में ले लिया। लेकिन तभी आरोपी मनराज पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। पुलिस की गंभीर लापरवाही को देखते हुए एसपी सुनील बिश्नोई ने रवांजना डूंगर थाने पर तैनात एक एएसआई तथा एक कांस्टेबल को लाइन हाजिर कर दिया। मामला यहीं शांत नहीं हुआ इसके बाद आरोपी युवक ने  देर रात्रि को प्रेमिका के ससुराल के घर के सामने ही पेड़ से लटक कर अपनी जान दे दी । घटना की सूचना गांव में आग की तरह फैली। मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई। रवांजना डूंगर थाना पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया तथा मृतक का शव अपने कब्जे में लेकर जिला अस्पताल की मोर्चरी पहुंचाया। जहां बुधवार को मृतक के परिजन व ग्रामीण घटना को लेकर बेहद आक्रोशित हो गए और शव लेने से इनकार कर दिया। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए लगभग आधा दर्जन थानों के थाना अधिकारी तथा आला पुलिस अधिकारी अस्पताल की मोर्चरी पर तैनात रहे।
8 घंटे की समझाइश के बाद माने परिजन।
लगभग 8 घंटे तक समझाइश का दौर चला। कड़ी समझाइस के पश्चात मृतक के परिजन शव लेने को राजी हुए।मृतक के परिजनों ने आश्रितों को 25 लाख रुपए के मुआवजे , दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज  व एक आश्रित को सरकारी नौकरी दिए जाने एवं घटना की जांच सीआईडी सीबी से करवाने की मांग को लेकर एसपी को पत्र सौंपा। साथ ही रवांजना डूंगर थाने में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किए जाने की रिपोर्ट भी प्रस्तुत की है। मेडिकल बोर्ड के द्वारा शव का पोस्टमार्टम किया गया है। तथा शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack