अच्छे परिणाम नहीं देने वाले शिक्षकों पर अब होगा एक्शन, अति.मुख्य सचिव ने दी हिदायत।


जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल ने स्कूल शिक्षा विभाग एवं राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद् (समग्र शिक्षा) के अधिकारियों को विभिन्न योजनाओं में अच्छे परिणाम नहीं मिलने पर कठोर कार्यवाही की बात कही। गोयल ने राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद् के राज्य परियोजना निदेशक डॉ. मोहन लाल यादव एवं माध्यमिक एवं प्रारम्भिक शिक्षा के निदेशक गौरव अग्रवाल के साथ शिक्षा संकुल में विभाग से संबन्धित विविध योजनाओं व गतिविधियों के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक ली। बैठक में शिक्षकों के प्रशिक्षण, स्कूलों में कम्प्यूटर लैब, राष्ट्रीय शिक्षा नीति आदि बिन्दुओं पर गोयल ने प्रगति की विस्तृत जानकारी लेते हुए समीक्षा की। गोयल ने स्कूलों में प्राथमिक कक्षाओं के विद्यार्थियों को उपलब्ध कराये जाने वाले खिलौनेनुमा पाठ्य साम्रगी के किट का भी निरीक्षण किया। छोटे बच्चो के फर्नीचर के मॉडल को भी देखा। विभाग के पोर्टल शालादर्पण पर विद्यार्थियों एवं शिक्षकों की उपस्थिति का प्रदर्शन अपडेटेड दिखता रहे, इसके लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी स्कूलों के विद्यार्थियों व शिक्षकों की उपस्थिति पोर्टल पर दिखना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि दूर-दराज के जिन स्कूलों में किसी कारण से बिजली नहीं है, वहां सोलर सिस्टम लगवाकर बिजली चालू करवाने का प्रयास करें। गोयल ने स्कूलों में फिसलपट्टी आदि लगवाये जाने सम्बन्धी एवं विद्यार्थियों को मुहैया कराये जाने वाली विभिन्न भौतिक सुविधाओं को उपलब्ध करवाये जाने के लिए समयबद्ध क्रियान्वयन करने के भी निर्देश दिये।बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग के उपनिदेशक, विशेषाधिकारी एवं राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के समस्त उपायुक्त, उपनिदेशक सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। जयपुर से बाहर के अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जुडे़।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack